Sam Altman and Mira Murati
Sam Altman and Mira Murati Raj Express

सैम के बाद मीरा मुराती ने संभाला ओपनएआई का नेतृत्व, जानिए क्या है उनका भारत से कनेक्शन

34 वर्षीय मीरा मुराती को ओपेन एआई में शीर्ष पद के लिए पदोन्नत किया गया है। सैम ऑल्टमैन को निकालने के बाद कंपनी का नेतृत्व मीरा मुराती को सौंपा गया है।

हाईलाइट्स

  • आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के क्षेत्र की अहम शख्सियत मानी जाती हैं मीरा।

  • मीरा मुराती के माता-पिता भारतीय हैं, उनका जन्म 1988 में सैन फ्रांसिस्को में हुआ।

  • मीरा ने टेस्ला में भी तीन साल तक सीनियर प्रोडक्ट मैनेजर के रूप में किया है काम

राज एक्सप्रेस। 34 वर्षीय मीरा मुराती को शुक्रवार को हाई-प्रोफाइल कंपनी में शीर्ष पद के लिए पदोन्नत किया गया है। ओपनएआई के निदेशक मंडल ने कंपनी के सह-संस्थापक और सीईओ सैम ऑल्टमैन को बाहर का रास्ता दिखाने के बाद कंपनी के नेतृत्व की जिम्मेदारी मीरा मुराती को सौंपी है। मीरा मुराती तेजी से लोकप्रिय हो रहे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) के क्षेत्र की अग्रणी शख्सियत मानी जाती हैं। लेकिन यह बात कम लोग जानते हैं कि मीरा मुराती के माता-पिता भारतीय हैं। उनका जन्म 1988 में अमेरिका के सैन फ्रांसिस्को में हुआ है, जबकि उन्होंने अपनी उच्च शिक्षा अमेरिका से प्राप्त की है।

मीरा मुराती के माता-पिता काफी पहले अमेरिका चले गए थे। 2007 में कनाडा से अपना ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद मीरा मुराती ने 2011 में गोल्डमैन सैक्स में प्रशिक्षु के रूप में अपने करियर की शुरूआत की थी। उन्होंने इसके बाद 2012 से 2013 तक ज़ोडियाक एयरोस्पेस में भी काम किया है। लीप मोशन में शामिल होने से पहले उन्होंने मॉडल एक्स के वरिष्ठ उत्पाद प्रबंधक के रूप में टेस्ला में सीनियर प्रोडक्ट मैनेजर के रूप में तीन साल बिताए हैं।

उन्होंने 2018 में ओपेनएआई को ज्वाइन किया। अपनी प्रतिभा की बदौलत वह जल्दी ही कंपनी की प्रमुख सख्शियत बन गईं। मीरा मुराती एआई के क्षेत्र का बड़ा नाम हैं। उन्होंने सालों तक चैटजीपीटी और डीएएल-ई जैसे क्रांतिकारी उत्पादों के विकास और वितरण प्रक्रिया की देखरेख करते हुए ओपनएआई में पर्दे के पीछे काम किया है। अब ओपनएआई के अंतरिम सीईओ के रूप में वह सुर्खियां बटोर रही हैं।

बता दें कि 34 वर्षीय मीरा मुराती को शुक्रवार को हाई-प्रोफाइल कंपनी में शीर्ष पद के लिए उस समय पदोन्नत किया गया, जब ओपनएआई के निदेशक मंडल ने कंपनी के सह-संस्थापक और सीईओ सैम ऑल्टमैन को बाहर का रास्ता दिखा दिया। ओपनएआई प्रबंधन ने कहा कि अद्वितीय कौशल को देखते हुए मीरा मुराती ही कंपनी के शीर्ष पद पर नियुक्त किए जाने योग्य हैं। उनकी नियुक्ति के साथ ही कंपनी के स्थाई सीईओ की खोज के हमारे प्रयास पूरे हो गए हैं।

हालाँकि, पिछले साल से वह मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी (सीटीओ) के रूप में काम कर रही थीं, लेकिन कंपनी के कर्मचारियों का कहना है कि मीरा मुराती पिछले काफी समय से कंपनी के प्रमुख के रूप में ही काम कर रही थीं। पहले से ही कंपनी में उनके आदेशों को सबसे अधिक महत्व दिया जाता है। उन्होंने सुनिश्चित किया कि कंपनी के इंजीनियर तय समय में चैटजीपीटी का विकास करने में सफल रहे।

इसके साथ ही, उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट के साथ कंपनी के संबंधों को भी संभाला, जो कंपनी में निवेशक और भागीदार है। माइक्रोसाफ्ट ने ही ओपनएआई के लिए तकनीक उपलब्ध कराई है। इसके साथ ही, उन्होंने वाशिंगटन और यूरोप में कृत्रिम बुद्धिमत्ता नीति को आकार देने में भी बहुत सहायता की। उनके पास तकनीकी विशेषज्ञता, व्यावसायिक कौशल और मिशन के प्रति गहरी प्रतिबद्धता के साथ टीमवर्क के विकास में भी महारत हासिल है।

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने टाइम पत्रिका के लिए लिखे अपने लेख में लिखा था कि मीरा मुराती ने मौजूदा दौर की अब देखी सबसे रोमांचक एआई प्रोद्योगिकी के विकास में सहायता की। अमेरिका में जन्मी और कनाडा में शिक्षित, मीरा मुराती प्रशिक्षण से मैकेनिकल इंजीनियर हैं, लेकिन उनकी जिज्ञासाएं बेहिसाब हैं। जब वह डार्टमाउथ कॉलेज में स्नातक छात्रा थीं, तो उस समय उन्होंने एक हाइब्रिड रेसिंग कार बनाई थी।

टेस्ला का काम छोड़ने के बाद वह 2018 में ओपनएआई में शामिल हुईं, जहां उन्होंने मॉडल एक्स कार के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसके साथ ही उन्होंने लीप मोशन स्टार्टअप के लिए हाथ और उंगली की गति को ट्रैक करने के लिए एक कंप्यूटिंग सिस्टम विकसित किया। मीरा मुराती बताती है्, ''टेस्ला में काम के दौरान मैं पहली बार आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस एआई से परिचित हुई। इस एक्सपोजर ने उन्हें उस क्षेत्र में नौकरी तलाशने के लिए प्रेरित किया।

इसके बाद ही ओपेनएआई ने उन्हें एप्लाइड एआई और पार्टनरशिप उपाध्यक्ष के रूप में कंपनी में नियुक्त किया। उस समय, कंपनी एक गैर-लाभकारी संगठन के रूप में काम कर रही थी, जिसका लक्ष्य था कि कृत्रिम बुद्धिमत्ता से पूरी मानवता को लाभ हो। बाद के दिनों में कंपनी ने खुद को एक लाभकारी संस्था के रूप में पुनर्गठित किया, ताकि यह एआई प्रौद्योगिकियों के विकास के लिए जरूरी धन धन जुटा सके।

अगस्त माह में सिलिकॉन वैली वेंचर कैपिटल फर्म आंद्रेसेन होरोविट्ज़ द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में मीरा मुराती ने बताया था यदि आप प्राथमिक रूप से कृतिम बुद्धिमत्ता के विकास का प्रयास कर रहे हैं, तो यह ब्रह्मांड में ऐसी एकमात्र इकाई है, जो सभी क्षेत्रों को समान रूप से प्रभावित करती है। उन्होंने कहा मानवता की कलेक्टिव इंटेलीजेंस बढ़ाने से ज्यादा प्रेरणादायक और क्या हो सकता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com