Share Market
Share Market Raj Express

16 साल बाद 5% के स्तर पर पहुंचा अमेरिकी बॉन्ड यील्ड्स, दुनियाभर के शेयर बाजारों में बड़ी गिरावट

अमेरिकी बॉन्ड यील्ड्स 2007 के बाद पहली बार 5 फीसदी के स्तर पर पहुंच गया है। इसी वजह से शुक्रवार के दिन भारत समेत दुनियाभर के बाजारों में गिरावट देखने में आई।

हाईलाइट्स

  • अमेरिकी बॉन्ड यील्ड्स 2007 के बाद पहली बार 5 फीसदी के स्तर पर पहुंच गया

  • इसी वजह से शुक्रवार को भारत समेत दुनियाभर के बाजारों में तेज गिरावट दिखाई दी

  • इजराइल की ओर से गाजा पर बड़े स्तर पर हमले ने बाजार का माहौल बिगाड़ दिया है

राज एक्सप्रेस। अमेरिकी बॉन्ड यील्ड्स 2007 के बाद पहली बार 5 फीसदी के स्तर पर पहुंच गया है। इसी वजह से शुक्रवार के दिन भारत समेत दुनियाभर के बाजारों में बड़ी तेज गिरावट देखने में आई थी। इसके अलावा इजराइल और हमास के बीच जारी जंग ने भी निवेशकों को शेयर बाजार से इतर निवेश के दूसरे सुरक्षित ठिकाने खोजने पर मजबूर कर दिया है। 10 साल का यूएस ट्रेजरी बिल शुक्रवार को अमेरिकी शेयर बाजार खुलने से पहले थोड़ा कम होकर 4.98 फीसदी पर ट्रेड कर रहा था। क्रूड ऑयल के दाम 93 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंचने और इजराइल की ओर से गाजा पर बड़े स्तर पर हमले ने भी बाजार का माहौल बिगाड़ दिया है।

यूरोप के शेयर बाजारों में शुक्रवार के दिन एक फीसदी की गिरावट देखी गई थी। इसकी वजह से एशियाई शेयर बाजार रातोंरात 11 माह के निचले स्तर पर जा गिरे थे। पिछले दो दिनों में वॉल स्ट्रीट में 2 फीसदी गिरावट देखने में आई है। निवेशक इस बात से चिंतित हैं कि फ्यूचर्स मार्केट में और अधिक गिरावट के संकेत मिल रहे हैं। अफरातफरी के इस माहौल में सुरक्षित निवेश की तलाश में लोग सोने की ओर आकर्षित हो रहे हैं।

यही वजह है कि सोने की मांग 3 महीने के उच्चतम स्तर पर जा पहुंची है। सोने और डॉलर को मुश्किल समय में निवेश के लिए सबसे सुरक्षित विकल्प माना जाता है। जापान सरकार का 10 साल का बॉन्ड यील्ड्स भी एक दशक के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा है। इसके बाद जापानी केंद्रीय बैंक ने दरों को नीचे लाने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। बैंक ऑफ जापान को भी बॉन्ड मार्केट में तब हस्तक्षेप करना पड़ा, जब 10-साल का जापानी सरकारी बॉन्ड यील्डस एक दशक के उच्चतम स्तर पर जा पहुंचा। लगातार बढ़ते निवेश की वजह से सोना 3 माह के शीर्ष पर पहुंच गया है।

पिछले 48 घंटों के दौरान एस&पी 500 के 2% से अधिक फिसलने और विक्स इंडेक्स के मार्च के बाद पहली बार 21 से अधिक पर बंद होने के बावजूद बॉन्ड यील्ड में अधिक गिरावट देखने में नहीं आई। दुनिया भर शेयर बाजारों के लिए यह एक निराशाजनक स्थिति है। इस बीच, यूरोपीय सेंट्रल बैंक की अगले सप्ताह बैठक होने वाली है। उम्मीद की जा रही है कि यूरोपीय सेंट्रल बैंक, ब्याज दरों में लगातार 10 बार बढ़ोतरी करने के बाद, इस बार अपनी ब्याज दर को यथावत रखेगा। इससे पहले फेडरल रिजर्व के प्रमुख जेरोम पॉवेल ने कहा था कि वह सैद्धांतिक रूप से सहमत हैं कि बॉन्ड यील्ड में हालिया उछाल ब्याज दरों में अधिक बढ़ोतरी की जरूरत को कम कर सकता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com