Justine Trudo
Justine TrudoRaj Express

कनाडा ने निज्जर की हत्या के पीछे बताया भारत का हाथ, व्यापार समझौता रद्द किया, भारतीय राजनयिक को भी निकाला

कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या में भारत का हाथ होने की आशंका व्यक्त की है। उन्होंने भारतीय राजनयिक को भी देश से निकाल दिया है।

हाईलाइट्स

  • कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत का हाथ होने की आशंका व्यक्त की है

  • ट्रूडो बोले कनाडा की उसी की सरजमीं पर उसके ही नागरिक की हत्या में किसी दूसरे देश की संलिप्तता किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं

  • इसके साथ ही, कनाडा ने भारत के साथ व्यापार समझौता भी रद्द कर दिया है, उसने कहा ऐसी स्थिति में भारत के साथ सामान्य संबंध जारी रखना कठिन

राज एक्सप्रेस। कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या में भारत का हाथ होने की आशंका व्यक्त की है। ट्रूडो ने ओटावा में हाउस ऑफ कॉमंस में कहा कि कनाडा की सुरक्षा एजेंसियों ने खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर की हत्या के पीछे भारत का हाथ होने के एंगल से जांच शुरू कर दी है। ट्रूडो ने कहा कनाडा के नागरिक की उसी की सरजमीं पर हत्या में किसी दूसरे देश की सरकार की संलिप्तता किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसके साथ ही, कनाडा ने भारत के साथ व्यापार समझौता भी रद्द कर दिया है। निज्जर की हत्या को ट्रूडो ने अपने देश कनाडा की संप्रभुता का उल्लंघन बताया। उनके इस बयान के बाद कनाडा ने भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया। खालिस्तानी आतंकी हरदीप सिंह निज्जर को राष्ट्रीय जांच एजेंसी एनआईए ने भगोड़ा घोषित कर रखा था। इसी साल 18 जून को आतंकी निज्जर की उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जब वह कनाडा के ब्रिटिश कोलंबिया में एक गुरुद्वारे की पार्किंग में खड़ा था।

भारत ने कहा यह निराधार और बेतुका आरोप

कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जॉली ने भारतीय राजनयिक को तत्काल देश छोड़कर जाने का आदेश देने के बाद उन्होंने कहा कि उनका देश हर हाल में अपने नागरिकों की रक्षा करने को लेकर प्रतिबद्ध है। कनाडा सरकार के आरोपों पर भारतीय विदेश मंत्रालय ने तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सिरे से खारिज कर दिया है। विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि भारत कनाडा के आरोपों को पूरी तरह से खारिज करता है। हमने उनकी संसद में कनाडा के प्रधानमंत्री के बयान को देखा है जो पूरी तरह से मनगढ़ंत और निराधार है। कनाडा में हिंसा की किसी किसी भी गतिविधि में भारत का कोई हाथ नहीं है। हम कानून के शासन के प्रति मजबूत प्रतिबद्धता वाली एक लोकतांत्रिक देश हैं।

पीएम टूड्रो ने निज्जर की हत्या में बताया भारत का हाथ

कनाडा पीएम ट्रूडो ने संसद में कहा आज मैं सदन को एक बेहद गंभीर मामले से वाकिफ कराना चाहता हूं। मैंने सीधे तौर पर विपक्ष के नेताओं को सूचित किया है, लेकिन मैं अब सभी कनाडाई नागरिकों को बताना चाहता हूं। बीते कुछ हफ्तों से कनाडा की सुरक्षा एजेंसियां कनाडा के नागरिक हरदीप सिंह निज्जर और भारत सरकार के संभावित कनेक्शन के विश्वसनीय आरोपों की जांच कर रही है। कनाडा कानून का पालन करने वाला देश है। हमारे नागरिकों की सुरक्षा और हमारी संप्रभुता की रक्षा मौलिक है। हमारी शीर्ष प्राथमिकता यह रही है कि हमारी सुरक्षा एजेंसियां और कानून प्रवर्तन एजेंसियां सभी कनाडाई नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करें। कनाडा ने भारत सरकार के शीर्ष अधिकारियों और सुरक्षा अधिकारियों के समक्ष यह मुद्दा उठाया है। पिछले हफ्ते मैंने जी20 में व्यक्तिगत तौर पर सीधे प्रधानमंत्री मोदी के समक्ष यह मुद्दा उठाया था।

पीएम ट्रूडो अमेरिकी राष्ट्रपति के सामने भी उठा चुके हैं यह मुद्दा

खालिस्तानी आतंकी निज्जर की हत्या को लेकर ससंद में पीएम ट्रूडो के बयान के बाद कनाडा ने भारत के एक शीर्ष राजनियक को निष्कासित कर दिया है। कनाडा सरकार ने आरोप लगाया कि भारतीय राजनयिक निज्जर की हत्या की जांच में हस्तक्षेप कर रहे थे। कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने कहा अगर यह सब सच साबित होता है तो यह हमारी संप्रभुता और एक-दूसरे के साथ पेश आने के बुनियादी नियम का बड़ा उल्लंघन होगा। इसलिए हमने एक शीर्ष भारतीय राजनयिक को निष्कासित कर दिया है। पीएम ट्रूडो इस मामले को अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन के समक्ष भी उठा चुके हैं।

जी-20 के दौरान पीएम मोदी ने लगाई थी फटकार

जी-20 शिखर सम्मेलन के दौरान भी खालिस्तानी आतंक पर एम मोदी और कनाडा पीएम जस्टिन ट्रूडो के बीच द्विपक्षीय बात हुई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कनाडा पीएम के सामने खालिस्तान का मुद्दा उठाया था। प्रधानमंत्री मोदी ने कनाडा में चरमपंथी तत्वों की तरफ से जारी भारत विरोधी गतिविधियों को लेकर भारत की चिंताओं से उन्हें वाकिफ कराया था। पीएम मोदी ने कहा था कि चरमपंथी अलगाववाद को बढ़ावा दे रहे हैं। भारतीय राजनयिकों के खिलाफ हिंसा भड़का रहे हैं। राजनयिक परिसरों को निशाना बना रहे हैं और कनाडा में भारतीय समुदाय और उनके धार्मिक स्थलों पर हमले कर रहे हैं। इस तरह की हरकतें कनाडा के लिए चिंता का विषय हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com