Alon Musk
Alon MuskRaj Express

जनवरी तक एलन मस्क को भारत में उत्पादन सुविधा स्थापित करने की मंजूरी दे सकती है केंद्र सरकार

एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी 'टेस्ला​​​​​' को केंद्र सरकार भारत में उत्पादन इकाई लागाने के लिए जनवरी 2024 तक सभी जरूरी अप्रूवल दे सकती है।

हाईलाइट्स

  • टेस्ला की इकाई लगाने को लेकर पीएम हाउस में हुई उच्च स्तरीय बैठक

  • बैठक में ईवुी मैन्युफैक्चरिंग के अगले चरण पर विस्तार से की गई बातचीत

राज एक्सप्रेस। एलन मस्क की इलेक्ट्रिक कार बनाने वाली कंपनी 'टेस्ला​​​​​' को केंद्र सरकार भारत में उत्पादन इकाई लागाने के लिए जनवरी 2024 तक सभी जरूरी अप्रूवल दे सकती है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार टेस्ला की उत्पादन इकाई भारत में शुरू करने को लेकर जरूरी तैयारियां जोरशोर से की जा रही हैं। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि यह जानकारी प्रधानमंत्री कार्यालय में हुई उच्च स्तरीय बैठक क बाद सामने आई है। बताया जाता है की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई बैठक में टेस्ला के निवेश प्रस्ताव और देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल मैन्युफैक्चरिंग के अगले चरण को लेकर विस्तार से चर्चा की गई है।

इस हाईलेवल बैठक में हिस्सा लेने वाले एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि सोमवार को प्रधानमंत्री ऑफिस में हुई बैठक मुख्य रूप से सामान्य नीतिगत मामलों को लेकर थी। बैठक में जनवरी 2024 तक देश में टेस्ला के प्रस्तावित निवेश पर भी विस्तार से चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि टेस्ला को फास्ट-ट्रैक अप्रूवल इस बैठक का एक प्रमुख एजेंडा था। भारत में कार मैन्युफैक्चरिंग सुविधा स्थापित करने के साथ-साथ एलन मस्क बैटरी स्टोरेज फैक्ट्री भी लगाना चाहते हैं।

टेस्ला भारत में इलेक्ट्रिक कार के साथ बैटरी स्टोरेज सिस्टम बनाना और बेचना चाहती है। कंपनी ने इसके लिए भारतीय अधिकारियों को एक प्रपोजल दिया है। मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि टेस्ला के अधिकारियों ने 17 मई को भारत सरकार के अधिकारियों के साथ बैठक की थी। इस बैठक में कंपनी ने भारत में इलेक्ट्रिक कार बनाने के लिए एक उत्पादन इकाई लागने के लिए जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने की इच्छा जताई गई थी।

अधिकारी के अनुसार भारतीय अधिकारियों ने टेस्ला के प्रतिनिधियों से कहा कि सरकार घरेलू विक्रेता आधार स्थापित करने के लिए पर्याप्त समय देने के लिए तैयार है, लेकिन टेस्ला को इसके लिए एक तयशुदा टाइम स्लॉट बताना होगा। आपको याद होगा कि इसी साल करे जून माह में टेस्ला के सीईओ एलन मस्क ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से न्यूयॉर्क में मुलाकात की थी। इस मुलाकात में भी उनके बीच टेस्ला की इकाई भारत में लगाने को लेकर बातचीत हुई थी। बैठक के बाद संवाददाताओँ से बातचीत में मस्क ने कहा था कि भारत में दुनिया के किसी भी बड़े देश की तुलना में ज्यादा कारोबारी संभावनाएं मौजूद हैं।

टेस्ला ने पिछले साल भारत आने की इच्छा जताई थी, लेकिन तब कंपनी और सरकार के बीच बात नहीं बन पाई थी। टेस्ला ने सरकार से पूरी तरह से असेंबल गाड़ियों पर लगने वाली इंपोर्ट ड्यूटी को 100% से घटाकर 40% करने की मांग की थी। कंपनी चाहती थी कि उसकी गाड़ियों को लग्जरी सेगमेंट में न रखकर इलेक्ट्रिक व्हीकल कैटेगरी में रखा जाना चाहिए। दूसरी ओर भारत सरकार कहा कहना था कि दूसरे देशों से इंपोर्ट किए जाने वाले इलेक्ट्रिक व्हीकल्स पर इंपोर्ट ड्यूटी माफ या कम करना संभव नहीं है।

भारतीय अधिकारियों ने आश्वासन भी दिया था कि अगर टेस्ला भारत में उत्पादन इकाई लगाने का वायदा करे तो उसे आयात पर छूट देने पर विचार किया जा सकता है। जबकि, एलन मस्क लगातार यह प्रयास कर रहे थे, भारत में पहले कारों की बिक्री शुरू की जाए, इसके बाद ही प्लांट लगाने की किसी योजना पर बातचीत हो। एलन मस्क ने 27 मई 2022 को अपने एक ट्वीट में कहा था कि टेस्ला ऐसे किसी स्थान पर मैन्युफैक्चरिंग प्लांट नहीं लगाएगी जहां उसे पहले से कार बेचने और सर्विस की परमिशन नहीं है। उनके इस ट्वीट से कारोबारी जगत में संदेश गया था कि भारतीय बाजार से एलन मस्क की दूरी कायम रहेगी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com