क्या सोशल मीडिया से कमाई करने वाले लोग भी भरते हैं टैक्स
क्या सोशल मीडिया से कमाई करने वाले लोग भी भरते हैं टैक्सSyed Dabeer Hussain - RE

क्या सोशल मीडिया से कमाई करने वाले लोग भी भरते हैं टैक्स? जानिए पूरा गणित

कई प्राइवेट कंपनियां अपने प्रोडक्ट को सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर के जरिए प्रोमोट करवाती हैं। इस काम के लिए सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर को अच्छा-खासा पैसा भी मिलता है।

राज एक्सप्रेस। इंटरनेट के इस दौर में भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के लोगों का रुझान सोशल मीडिया की तरफ बढ़ा है। इसको देखते हुए बड़ी संख्या में लोग सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर बनकर इसके जरिए पैसा भी कमा रहे हैं। आमतौर पर सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर उस व्यक्ति को कहते हैं, जिसके सोशल मीडिया पर अच्छे खासे फॉलोअर्स होते हैं। कई प्राइवेट कंपनियां अपने प्रोडक्ट को सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर के जरिए प्रोमोट करवाती हैं। इसके लिए इन्हें अच्छा पैसा मिलता है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि एक सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर को अपनी पोस्ट के जरिए होने वाली कमाई पर टैक्स भरना होता है या नहीं? अगर हाँ तो कितना? चलिए जानते हैं।

देना होता है टैक्स :

आपको बता दें कि YouTube, Instagram, Facebook और Snapchat सहित अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट करके मोटी कमाई करने वाले इन इन्फ्लुएंसर को भी टैक्स देना होता है। इन इन्फ्लुएंसर के द्वारा की जाने वाली कमाई आयकर के ‘व्यवसाय या पेशे से आय’ के तहत आती है। यानी सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर पर भी उसी तरह टैक्स लगता है, जितना किसी व्यवसाय या अन्य पेशे से होने वाली आमदनी पर लगता है।

कितना देना होता है टैक्स?

दरअसल सोशल मीडिया के जरिए कमाई करने वाले व्यक्ति को भी किसी आम व्यक्ति की तरह ही टैक्स भरना होता है। इसके लिए वह ‘पुराना टैक्स सिस्टम’ या ‘नया टैक्स सिस्टम’ दोनों में से किसी को भी चुन सकता है। पुराने टैक्स सिस्टम में 2.5 लाख तक की आमदनी पर टैक्स नहीं लगता है, जबकि नए टैक्स सिस्टम में यह छूट 7 लाख है।

गिफ्ट पर भी लगता है टैक्स :

अक्सर प्राइवेट कंपनियां अपने ब्रांड को रिव्यू करवाने के लिए सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर को गिफ्ट के तौर पर अपना प्रोडक्ट भेजती हैं। ताकि इन्फ्लुएंसर खुद उनके प्रोडक्ट का इस्तेमाल करके उसका रिव्यू कर सकें। आयकर विभाग ने साल 2022 से इन्फ्लुएंसर को मिलने वाले गिफ्ट पर भी टैक्स लगा दिया है। इसके तहत अगर उस गिफ्ट की कीमत 20 हजार से अधिक है तो उस पर 10% टीडीएस लागू होगा।

चाइल्ड इन्फ्लुएंसर को भी देना होगा टैक्स?

आपको बता दें कि अन्य इन्फ्लुएंसर की तरह चाइल्ड इन्फ्लुएंसर को भी सोशल मीडिया के जरिए होने वाली कमाई पर टैक्स देना होता है। हालांकि इनकी आमदनी को माता-पिता की आमदनी के साथ जोड़ा जाता है। माता-पिता अपनी आय के साथ चाइल्ड इन्फ्लुएंसर की आय का भी भुगतान करते हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com