यस बैंक में हिस्सेदारी खरीदना चाहता है एमिरेट्स एनबीडी
यस बैंक में हिस्सेदारी खरीदना चाहता है एमिरेट्स एनबीडीRaj Express

यस बैंक में हिस्सेदारी खरीदना चाहता है एमिरेट्स एनबीडी, शेयरों ने भरी उड़ान

दुबई के सबसे बड़े बैंक एमिरेट्स एनबीडी ने यस बैंक में बड़ी हिस्सेदारी खरीदने की पेशकश की है। यह खबर सामने आने के बाद शेयरों में तेजी देखने को मिल कही है।

हाईलाइट्स

  • वित्तीय संकट की वजह से डूबने के कगार पर जा पहुंचा था एस बैंक

  • एसबीआई के नेतृत्व वाले कंसोर्टियम ने एस बैंक को दिया सहारा

  • अब यह कंसोर्टियम अपनी हिस्सेदारी बेचने की कोशिश कर रहा

राज एक्सप्रेस । दुबई के सबसे बड़े बैंक एमिरेट्स एनबीडी ने यस बैंक में बड़ी हिस्सेदारी खरीदने की पेशकश की है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार दुबई के बबसे बड़े बैंक ने शुरुआती दिलचस्पी दिखाई है। इसका असर मंगलवार 23 अप्रैल को शेयरों पर भी दिखाई दिया है। इसके बाद एस बैंक के शेयरों में तेजी देखने को मिली है। एस बैंक के शेयरों में 5 फीसदी से अधिक उछाल देखने को मिली है। यस बैंक में दुबई के सबसे बड़े बैंक के निवेश की बात सामने आने के बाद शेयरों में उछाल देखने को मिली है। एस बैंक का शेयर इस समय मामूली बढ़त के साथ 25.65 रुपए के स्तर पर ट्रेड कर रहा है। यह खबर सामने आने के बाद एस बैंक ने पिछले पांच दिनों में 5.56% का रिटर्न दिया है।

एस बैंक ने एक्सचेंज से कहा यह महज अनुमान

हालांकि यह खबर जब स्टॉक एक्सचेंजों को लगी तो उसने यस बैंक से जवाब मांगा था। इस पर यस बैंक ने सफाई में कहा यह महज एक अनुमान है। यानी निवेश की यह खबर अनुमान पर आधारित है। यस बैंक ने बताया कि दुबई के सबसे बड़े बैंक ने इसमें बड़ा हिस्सा खरीदने में शुरुआती दिलचस्पी दिखाई है। इससे जुड़ी रिपोर्ट स्पेक्यूलेटिव यानी अनुमान पर आधारित है। एस बैंक ने बताया कि फिलहाल ऐसा कोई विवरण मौजूद नहीं है, जिसका लिस्टिंग रेगुलेशंस के तहत खुलासा करना जरूरी हो।

एसबीआई कंसोर्टियम देखता है एस बैंक का प्रबंधन

उल्लेखनीय है कि भीषण वित्तीय संकट में जा फंसे यस बैंक को करीब चार साल पहले एसबीआई की अगुवाई वाले एक संसोर्टियम ने बचाया था। अब एसबीआई का यह कंसोर्टियम अपनी हिस्सेदारी बेचने का प्रयास कर रहा है। एस बैंक के लिए नया प्रमोटर खोजने की जिम्मेदारी इनवेस्टमेंट बैंक सिटी को सौंपा गया है। भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के पास इसकी 26.13 फीसदी हिस्सेदारी है। जबकि एलआईसी, एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के पास 13.84 फीसदी हिस्सेदारी है।

दो जापानी बैंक भी दे चुके हैं हिस्सा खरीदने का प्रस्ताव

एस बैंक की अधिसंख्य हिस्सेदारी खरीदने में जापान के मित्सुबिसी यूएफजे फाइनेंशियल ग्रुप और सुमिटोमो मित्सुई बैंकिंग कॉरपोरेशन ने दिलचस्पी दिखाई है। इसके बाद ही यह चर्चा सामने आई कि एमेरिट्स एनबीडी भी मेजॉरिटी हिस्सेदारी खरीदना चाहता है। इस मामले में अब तक कोई बहुत स्पष्ट तस्वीर नहीं उभर सकी है। यही वजह है कि इस मामले में अब तक कयास ही लगाए जा रहे हैं। लेकिन कुछ जानकार सूत्रों के अनुसार इस माह के आखिरी तक एमीराट्स एनवीडी अपना प्रस्ताव देने वाला है। प्रस्ताव देने के बाद ही इस मामले में निर्णायक रूप से कुछ समझा जा सकता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com