लाल सागर संकट की वजह से मारुति कारों की निर्यात लागत बढ़ी, हो सकती है कीमत में बढ़ोतरी

Red Sea Crisis : लाल सागर में जारी गतिरोध की वजह से जहाजों का बदले हुए मार्ग से जाना पड़ रहा है। इसकी वजह से परिवहन लागत में बढ़ोतरी हो गई है।
Maruti Suzuki's export cost increased
Maruti Suzuki's export cost increasedRaj Express

हाईलाइट्स

  • गतिरोध की वजह से जहाजों का बदले हुए मार्ग से जाना पड़ रहा है

  • इसकी वजह से कारों के निर्यात की लागत में बढ़ोतरी हो गई है

  • कंपनी ने कहा इस मुद्दे का निर्यात पर कुछ विशेष प्रभाव नहीं पड़ेगा

राज एक्सप्रेस।। लाल सागर में जारी गतिरोध की वजह से जहाजों का बदले हुए मार्ग से जाना पड़ रहा है। इसकी वजह से परिवहन लागत में बढ़ोतरी हो गई है। इस बदलाव की वजह से देश की प्रमुख कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) की निर्यात लागत में कुछ बढ़ोतरी हो सकती है। मारुति सूजुकी इंडिया ने कैलेंडर वर्ष में लगभग 2.7 लाख कारों का निर्यात किया था। हालांकि, कंपनी ने कहा है कि उसे नहीं लगता कि इस मुद्दे का उसके निर्यात पर कुछ विशेष प्रभाव पड़ सकता है।

कंपनी के कार्यकारी अधिकारी (कॉर्पोरेट मामले) राहुल भारती ने बताया कि लाल सागर संकट की वजह से हमें कुछ लॉजिस्टिक संबंधी चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है। जोखिम और वाहनों के मार्ग में बदलाव की वजह से लागत में कुछ बढ़ोतरी हो सकती है। उन्होंने स्पष्ट किया कि वहनों की कीमत में होने वाला बदलाव बहुत अधिक नहीं होगा। उन्होंने कहा कि लंबा रास्ता तय करने की वजह से माल निर्यात के समय में कुछ ज्यादा समय लग सकता है, समय में जरूरत के हिसाब से बदलाव भी हो सकता है। निर्यात के लिए वाहनों के उठाव और उनकी डिलीवरी प्रभावित हो सकती है।

जर्मनी की लग्जरी कार कंपनी आडी ने भी लाल सागर संकट को लेकर चिंता जताई है। आडी के प्रवक्ता ने कहा कि सप्लाई चेन संबंधी समस्याएं पैदा हो रही हैं। इस संकट की वजह से पहली तिमाही में भारत में ग्राहकों को कार की आपूर्ति प्रभावित हो रही है। आडी इंडिया के प्रमुख बलबीर सिंह ढिल्लों ने बताया कि कंपनी भारत में इलेक्टि्रक कारों को तैयार करने की संभावनाओं का मूल्यांकन कर रही है। कार की कीमत में इस संकट की वजह से अगले दिनों में मामूली बदलाव भी देखने को मिल सकता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com