एफपीआई ने मई में भारतीय बाजारों से की 17 हजार करोड़ की निकासी

घरेलू शेयर बाजार से एफपीआई की बिकवाली जारी है। मई के में अब तक एफपीआइ ने शेयर बाजार से बड़ी मात्रा में निकासी कर चुके हैं।
एफपीआई ने मई माह में भारतीय बाजारों से की निकासी
एफपीआई ने मई माह में भारतीय बाजारों से की निकासीRaj Express

हाईलाइट्स

  • 2024 में अब तक 14861 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी कर चुके हैं एफपीआइ

  • नए साल की शुरुआत से ही एफपीआई बड़े स्तर पर कर रहे हैं बिकवाली

  • मई में अब तक के 7 कारोबारी दिनों में 6 दिन की निकासी, एक दिन किया निवेश

राज एक्सप्रेस। घरेलू शेयर बाजार से विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) की बिकवाली लगातार जारी है। डिपॉजिटरी आंकडों के अनुसार मई के महीने में अब तक एफपीआइ ने शेयर बाजार से 17083 करोड़ रुपये की निकासी की है। इसके साथ ही कैलेंडर वर्ष 2024 में अब तक एफपीआइ की शुद्ध निकासी 14861 करोड़ रुपये हो गई है। विशेषज्ञ हैरान हैं कि एफपीआई आखिरकार इतने आक्रामक तरीके से बिकवाली क्यों कर रहे हैं ?

नए साल में शुरुआत से ही एफपीआई की बिकवाली कर रहे हैं। दरअसल, एफपीआई ने 2024 की शुरुआत ही बिकवाली से की थी। एफपीआई ने साल के पहले महीने जनवरी में 25,744 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी की थी। इसके बाद के दो माह में यह ट्रेंड बदल गया गया और फरवरी और मार्च में एफपीआई ने क्रमश: 1,539 करोड़ और 35,098 करोड़ रुपये का बाजार में निवेश किया था। लेकिन अप्रैल में विदेशी निवेशकों ने इक्विटी बाजारों से 8,671 करोड़ रुपये की निकासी की।

मई में भी एफपीआई ने बाजार से पैसा निकाल रहे हैं। डिपॉजिटरी आंकड़ों के अनुसार, शेयर बाजारों में मई में सात दिन ही अब तक कारोबार हुआ है। एफपीआई ने इसमें से छह दिन बिक्री की है, जबकि एक दिन ही निवेश किया है। इसी तरह, बॉन्ड बाजार से भी एफपीआई लगातार दूसरे महीने शुद्ध रूप से बिकवाल बने हुए हैं। अप्रैल में 10,949 करोड़ रुपये की शुद्ध निकासी के बाद एफपीआई बॉन्ड बाजारों से मई में अब तक 1,602 करोड़ रुपये की निकासी कर चुके हैं।

जनवरी से मार्च के बीत बॉन्ड बाजार में एफपीआई शुद्ध रूप से निवेशक रहे थे। कहा जा रहा है कि चुनाव संबंधी अनिश्चतताओं की वजह से निवेशकों पर बिक्री का दबाव बना हुआ है। निवेशक बेहद सतर्कता के साथ मुनाफावसूली करने का प्रयास कर रहे हैं। यही वजह है कि बाजार में इन दिनों बहुत उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है। पिछले कुछ दिनों के दौरान एफपीआई की वजह से ही भारतीय शेयर बाजार में लगातार गिरावट देखने को मिली है, इसके विपरीत घरेलू निवेशक लगातार खरीदारी करते दिखाई दिए।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com