Torrent pharma
Torrent pharmaRaj Express

सिप्ला में हमीद फेमिली का हिस्सा खरीदा तो टोरेंट बन जाएगी देश की दूसरी सबसे बड़ी फार्मा कंपनी

फार्मा सेक्टर की दिग्गज कंपनी सिप्ला में टोरेंट फार्मा ने हिस्सेदारी खरीदने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। डील हुई तो टोरेंट का फार्मा उद्योग में प्रभाव बढ़ेगा।

हाईलाइट्स

  • अब अगर यह डील हो जाती है तो यह देश की सबसे बड़ी प्राइवेट इक्विटी डील होगी

  • इस समय फार्मास्युटिकल सेक्टर में देश की सबसे बड़ी कंपनी सन फार्मा है

राज एक्सप्रेस। फार्मा सेक्टर की दिग्गज कंपनी सिप्ला के प्रमोटर्स चेयरमैन वाईके हमीद, वाइस चेयरमैन एमके हमीद और एग्जेक्यूटिव वाइस चेयरमैन समीन हमीद ने कंपनी में अपना हिस्सा बेचने का निर्णय लिया है। टोरेंट फार्मा ने प्रमोटर्स की हिस्सेदारी खरीदने के प्रयास शुरू कर दिए हैं। कंपनी सूत्रों के अनुसार सिप्ला के प्रमोटर्स की हिस्सेदारी खरीदने के लिए टोरेंट फार्मा नॉन-बाइंडिंग बिड दाखिल कर सकती है। माना जा रहा है कि टोरेंट फार्मा इस पर कुछ सप्ताहों में फैसला कर सकती है। एक लमीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इसे लेकर कंपनी 3 से 4 प्राइवेट इक्विटी कंपनियों और विदेशी संस्थानों से बातचीत कर रही है, ताकि इस सौदे के लिए जरूरी पैसों का प्रबंध किया जा सके। इस मामले में अब तक टोरेंट फार्मा और सिप्ला ने कोई प्रतिक्रिया नहीं की है।

सिप्ला के प्रमोटर्स अपना हिस्सा बेचने को एकमत

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया था कि 27 जुलाई को सिप्ला के प्रमोटर्स ने अपनी हिस्सेदारी बेचने के लिए प्राइवेट इक्विटी फर्म ब्लैकस्टोन और बीपीईए ईक्यूटी से बातचीत शुरू की है। जानकारी के मुताबिक सिप्ला के प्रमोटर चेयरमैन वाईके हमीद, वाइस चेयरमैन एमके हमीद और एग्जेक्यूटिव वाइस चेयरमैन समीन हमीद ने अपनी हिस्सेदारी बेचने की योजना को अंतिम रूप दे दिया है। रिपोर्ट के अनुसार टोरेंट सिप्ला में हमीद परिवार की हिस्सेदारी खरीदना चाहती है।

ब्लैकस्टोन ने एलपी के साथ नॉन-बाइंडिंग बोली लगाई

उल्लेखनीय है कि हमीद परिवार की हिस्सेदारी खरीदने के लिए ब्लैकस्टोन ने एलपी (लिमिटेड पार्टनर्स) के साथ मिलकर नॉन-बाइंडिंग बोली लगाई है। लिमिटेड पार्टनर्स ऐसे निवेशक हैं, जो किसी प्राइवेट इक्विटी कंपनी को पूंजी मुहैया कराते हैं। अब अगर यह डील हो जाती है तो यह देश की सबसे बड़ी प्राइवेट इक्विटी डील होगी।

टोरेंट की तुलना में दोगुने से ज्यादा है कंसालिडेटेड रेवेन्यू

टोरेंट फार्मा यदि सिप्ला के प्रमोटर्स की हिस्सेदारी खरीदने में सफल होती है, तो रेवेन्यू के हिसाब से यह देश की दूसरी सबसे बड़ी फार्मा कंपनी बन जाएगी। फिलवक्त देश की सबसे बड़ी कंपनी सन फार्मा है। सिप्ला का 2023 का कंसालिडेटेड रेवेन्यू टोरेंट के मुकाबले 2.3 गुना, प्रॉफिट 2.3 गुना और मार्केट वैल्यू 1.46 गुना है। शेयरों की बात की जाए तो सिप्ला के शेयर 31 अगस्त को एनएसई पर 1.74 फीसदी उछलकर 1257.60 रुपये और टोरेंट फार्मा 5.74 फीसदी गिरकर 1842.50 रुपये पर बंद हुए थे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com