Melanie Jolie
Melanie JolieCanadian Foreign Minister

राजनयिक विवाद के बीच कनाडा जाने के इच्छुक भारतीयों को वीजा मिलने में हो सकता है विलंब

निज्जर की हत्या को लेकर भारत और कनाडा के बीच जारी राजनीतिक विवाद के बीच कनाडा ने कहा है कि भारतीयों को कनाडा का वीजा मिलने में कुछ विलंब हो सकता है।

खास बातें

  • खालिस्तानी निज्जर की हत्या को लेकर भारत-कनाडा में शुरु हुआ राजनयिक विवाद

  • कनाडाई दूतावास ने भारत के कहने पर अपने 41 राजनयिकों को हटा दिया है

  • आईआरसीसी ने कहा कर्मचारी न होने से वीजा आवेदनों को निपटाने में हो सकती है देरी

राज एक्सप्रेस। खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की संदिग्ध हत्या को लेकर भारत और कनाडा के बीच जारी राजनीतिक विवाद के बीच कनाडा ने कहा है कि भारतीयों को कनाडा का वीजा मिलने में कुछ विलंब हो सकता है। इस विलंब के पीछे कनाडा ने भारत के एक फैसले को वजह बताया है। आव्रजन, शरणार्थी और नागरिकता कनाडा (आईआरसीसी) ने कहा भारतीय वीजा आवेदनों को निपटाने में देरी हो सकती है, क्योंकि कनाडा ने भारत के कहने पर अपने 41 राजनयिकों को हटा दिया है।

कर्मचारियों की संख्या 27 से कम करके 5 करेगा कनाडा

आईआरसीसी ने कहा 20 अक्टूबर 2023 तक दिल्ली में 21 कनाडाई राजनयिकों और उनके परिवारों को छोड़कर सभी के लिए एकतरफा छूट वापस लेने के भारत के इरादे के बाद, आव्रजन, शरणार्थी और नागरिकता कनाडा (आईआरसीसी) भारत में अपने कर्मचारियों की संख्या 27 से कम करके 5 करने जा रहा है। कनाडा ने कहा आईआरसीसी भारत से मिलने वाले आवेदनों को स्वीकार करता रहेगा और उनको प्रोसेस भी करेगा, लेकिन कर्मचारियों की कम संख्या के कारण प्रोसेसिंग में विलंब हो सकता है।

वीजा प्रक्रिया को जारी रखेंगे भारत स्थित पांच कर्मचारी

भारत में कनाडाई राजनयिक कर्मचारियों की कमी की वजह से भारतीय नागरिकों को प्रोसेसिंग टाइम, वीजा या उनके पासपोर्ट वापस पाने में कुछ विलंब का सामना करना पड़ सकता है। इस बीच, कनाडाई अधिकारियों ने आश्वासन दिया कि कनाडा के भारत स्थित कर्मचारी रोजाना जरूरी काम निपटाएंगे। कनाडा ने कहा भारत के 89 फीसदी आवेदन वैश्विक नेटवर्क के माध्यम से प्रोसेस किए गए हैं। कनाडा ने कहा कि उसके भारत में रहने वाले 5 कर्मचारी वीजा प्रोसेस, वीजा प्रिंटिंग, जोखिम मूल्यांकन और प्रमुख भागीदारों की देखरेख आदि कामों को देखना जारी रखेंगे।

कनाडा ने 41 राजनयिकों को भारत से वापस बुलाया

कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने कहा उनके देश के 41 राजनयिकों को मिली छूट वापस लेने की धमकी के बाद कनाडा ने अपने राजनयिकों और उनके परिवारों को बुला लिया है। कनाडा के पीएम जस्टिन ट्रूडो ने पिछले माह आरोप लगाया था कि खालिस्तानी आतंकवादी हरदीप सिंह निज्जर की 18 जून को हुई हत्या में भारत का हाथ है। भारत ने निज्जर को 2020 में आतंकवादियों की सूची में शामिल किया था। भारत ने नाराजगी जताते हुए इस आरोप को बेतुका और दुराग्रह से प्रेरित बताकर खारिज कर दिया था।

एकतरफा ढ़ंग से हटाई कनाडाई कर्मचारियों की छूटः मेलानी जोली

कनाडा की विदेश मंत्री मेलानी जोली ने कहा भारत ने दिल्ली में सेवारत 21 कनाडा के राजनयिकों को छोड़कर अन्य सभी राजनयिकों एवं उनके परिवारों की राजनयिक छूट एकतरफा तरीके से हटाने की औपचारिक रूप से जानकारी दी है। कनाडा चंडीगढ़, मुंबई और बेंगलुरु में वाणिज्य दूतावासों में सभी व्यक्तिगत सेवाओं को रोक देगा और भारत में मौजूद सभी कनाडा के नागरिकों को नयी दिल्ली स्थित उच्चायोग में आने को कहेगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com