Reduction in both imports and exports
Reduction in both imports and exportsRaj Express

अगस्त में आयात व निर्यात दोनों सेक्टर में दर्ज की गई कमी, 24.16 बिलियन डॉलर रहा व्यापार घाटा

केंद्र के आंकड़ों से पता चला इस साल अगस्त में भारत का निर्यात घट गया है। वैश्विक मांग में कमी के कारण कई प्रमुख क्षेत्रों में गिरावट दर्ज की गई है।

राज एक्सप्रेस। केंद्र सरकार के आंकड़ों से पता चला इस साल अगस्त के माह में भारत का निर्यात घट गया है। वैश्विक मांग में कमी के कारण पेट्रोलियम और रत्न एवं आभूषण जैसे प्रमुख क्षेत्रों में गिरावट दर्ज की गई है। शिपमेंट में गिरावट के कारण इस साल अगस्त में€ भारत का निर्यात लगातार सातवें महीने 6.86 प्रतिशत घटकर 34.48 बिलियन अमेरिकी डॉलर रह गया। एक साल पहले की समान अवधि में भारत का निर्यात 37.02 बिलियन डॉलर था।

अगस्त में चाय, कॉफी, चावल, मसाले, चमड़ा, रत्न और आभूषण, कपड़ा और पेट्रोलियम उत्पादों के निर्यात घटा है। जबकि, आइरन खनिज, इलेक्ट्रॉनिक सामग्री, आयल सीड, काजू, कालीन, इंजीनियरिंग, फार्मा और समुद्री उत्पादों का निर्यात बढ़ा है। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक सामान का निर्यात 26.29 फीसदी बढ़कर 2.17 अरब डॉलर हो गया है। 5 माह की अवधि में यह 35.22 फीसदी वृद्धि के साथ 11.18 अरब डॉलर हो गया है। अगस्त में सेवाओं का निर्यात 26.39 बिलियन रहा है। अप्रैल-अगस्त 2023 में निर्यात की गई सेवाओं का अनुमानित मूल्य 133.38 बिलियन अमेरिकी डॉलर था, जबकि अप्रैल-अगस्त 2022 में यह 126.85 बिलियन अमेरिकी डॉलर था। निर्यात के अलावा पिछले माह देश में आयात लगातार नौवें महीने कम हुआ है।

आयात 5.23 प्रतिशत घटकर 58.64 बिलियन अमेरिकी डॉलर हो गया, जबकि अगस्त 2022 में यह 61.88 बिलियन अमेरिकी डॉलर था। अगस्त में तेल शिपमेंट 23.76 प्रतिशत घटकर 13.2 बिलियन अमेरिकी डॉलर रह गया है। । सोने के आयात में अगस्त में 38.75 प्रतिशत बढोतरी दर्ज की गई है। अब यह बढ़कर 4.93 अरब डॉलर हो गया है। कुल आयात की बात की जाए तो अगस्त माह में 15.22 बिलियन अमेरिकी डॉलर के मुकाबले 13.86 बिलियन अमेरिकी डॉलर रहा है। चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अगस्त के दौरान निर्यात 11.9 प्रतिशत घटकर 172.95 बिलियन अमेरिकी डॉलर रह गया। इस अवधि में आयात 12 प्रतिशत गिरकर 271.83 अरब अमेरिकी डॉलर रह गया। अगस्त में व्यापार घाटा (आयात और निर्यात के बीच का अंतर) 24.16 बिलियन अमेरिकी डॉलर पर रहा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com