होली पर पूरे देश में होगा 50,000 करोड़ से अधिक का रंग-गुलाल और फैंसी पिचकारियों का कारोबार

होली के त्योहार नजदीक आ गया है। भारत में होली का त्योहार जबर्दस्त उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस त्योहार को लेकर तैयारियां काफी पहले से ही शुरू हो गई हैं।
Shops decorated on Holi
Shops decorated on Holi Raj Express

हाईलाइट्स

  • सज गईं दुकानें, लेकिन दुकानदारों ने इस बार चीनी सामग्री का बहिष्कार किया

  • होली पर चीन से लगभग 10 हजार करोड़ रुपए का सामान आयात किया जाता था

  • भारत में बने हर्बल रंग-गुलाल, पिचकारी, गुब्बारे, पूजा सामग्री व ड्राइ फ्रूट्स की धूम

राज एक्सप्रेस । होली के त्योहार नजदीक आ गया है। भारत में होली का त्योहार जबर्दस्त उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस त्योहार को लेकर तैयारियां काफी पहले से ही शुरू हो गई हैं। बाजार सज गए हैं। कारोबारियो को उम्मीद है कि इस साल अच्छा कारोबार होगा। इस साल होली के त्योहारी सीजन में देश भर में लगभग 50,000 करोड़ रुपये के कारोबार की उम्मीद है। व्यापरियों के संगठन सीएआईटी के राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल के अनुसार अकेले दिल्ली में ही होली के अवसर पर 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का कारोबार होने की उम्मीद है।

उन्होंने कहा कि इस बार भी दुकानदारों ने चीनी सामान का बहिष्कार किया है। ट्रेडर्स एसोशिएशन ने बताया कि हर साल होली के अवसर पर चीन से लगभग 10 हजार करोड़ रुपए का सामान आयात किया जाता था, लेकिन इस बार इसमें काफी कमी देखने को मिल रही है। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (सीएआईटी) के राष्ट्रीय महामंत्री और लोकसभा चुनावों में चांदनी चौक से भाजपा प्रत्याशी प्रवीन खंडेलवाल ने कहा की इस बार होली की त्यौहारी बिक्री में चीन का बने हुए सामान का व्यापारियों और ग्राहकों ने बहिष्कार किया है।

उन्होंने कहा इस बार भारत में ही बने हर्बल रंग एवं गुलाल, पिचकारी, गुब्बारे, चंदन , पूजा सामग्री, कपड़ों सहित अन्य सामानों की बिक्री देखने को मिल रही है। मिठाइयां, ड्राई फ्रूट्स, गिफ्ट आइटम्स, फूल और फल, कपड़े, फर्निशिंग फैब्रिक, किराना, एफएमसीजी प्रोडक्ट, कंज्यूमर ड्युरेबल्स सहित अन्य प्रोडक्ट की भी जबरदस्त मांग देखने को मिल रही है।

खंडेलवाल ने बताया की इस साल दिल्ली सहित पूरे देश में होली समारोहों का आयोजन किया जाएगा। इसके चलते बैंक्वेट हाल, फार्म हाउस, होटलों , रेस्टोरेंट और पब्लिक पार्कों में होली समारोहों-आयोजनों का सिलसिला दिखाई देने वाला है। अकेले दिल्ली भर में छोटे बड़े मिलाकर 3 हजार से ज्यादा होली मिलन समारोह आयोजित किए जाएंगे।

होली नजदीक आते ही दिल्ली के थोक और रिटेल बाजार सज गए हैं। सभी बाजारों में दुकानों पर गुलाल और पिचकारी के साथ होली के अन्य सामानों की खरीदारी के लिए भीड़ देखने को मिल रही है। मिठाई की दुकानों पर खास तौर से होली पर बनने वाली गुंझिया आदि के बड़े स्तर पर बिक्री हो रही है। 24 मार्च को होली जलाई जाएगी जबकि रंगों का पर्व 25 मार्च को मनाया जाएगा। होली के रंग में बाजार भी रंगे हुए नजर आने लगे हैं।

बाजार में रंग बिरंगे गुलाल और पिचकारी के अलावा गुझिया के हार और मेवा से दुकानें सज गई हैं। खरीददारी के लिए बाजार में निकलने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। होली पर रिश्तेदारों के यहां हार और मिठाई के साथ मेवे की माला ले जाने की परंपरा है। इनकी खरीदारी के लिए दुकानों पर लोगों की भीड़ देखी जा रही है।

इस बार बाजारों में रसायन-युक्त गुलाल और रंगों की जगह हर्बल रंग, अबीर और गुलाल की मांग ज्यादा की जा रही है। बाजार में प्रेशर वाली पिचकारी 100 रुपये से 350 रुपये में मिल रही है। टैंक के आकार की पिचकारी 100 रुपये से लेकर 400 रुपये तक बिक रही है। बच्चे स्पाइडर मैन, छोटा भीम आदि को बच्चे खूब पसंद कर रहे है वहीं गुलाल के स्प्रे की मांग भी देखने को मिल रही है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com