Railway station
Railway stationRaj Express

पूर्वोत्तर में चीन सीमा तक जल्‍द संचालित होंगी ट्रेनें, भूटान भी जुड़ेगा, कई प्रोजेक्टों पर काम शुरू

पूर्वोत्तर राज्यों में केंद्र लगातार कनेक्टिविटी बढ़ाने पर जोर दे रहा है। भारतीय रेलवे ने पूर्वोत्तर में रेल कनेक्टिविटी बढ़ाने पर काम किए जा रहे हैं।

हाईलाइट्स

  • भारत-चीन सीमा पर रेलवे की पहुंच बनाने पर है भारतीय रेलवे का विशेष ध्यान

  • चीन सीमा तक जल्द पहुंचेगी भारतीय रेल, भूटान और बांग्लादेश तक होगी पहुंच

  • बॉर्डर एरिया में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए रेलवे ने जारी किए 1.20 लाख करोड़

राज एक्सप्रेस । पूर्वोत्तर के राज्यों में केंद्र सरकार लगातार कनेक्टिविटी बढ़ाने पर जोर दे रही है। वहीं, भारतीय रेलवे भी पूर्वोत्तर के क्षेत्रों में रेल कनेक्टिविटी को तेजी से बढ़ा रहा है। पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी (सीपीआरओ) सब्यसाची डे ने बताया कि उत्तर-पूर्व में बहुत जल्द चीन सीमा तक ट्रेन का संचालन शुरू किया जाएगा। हम अंतर्राष्ट्रीय सीमा के पार रेल कनेक्टिविटी का विस्तार करने का प्रयास कर रहे हैं। जल्दी ही हमारे विस्तारित रेल नेटवर्क की सीमा में भूटान भी आ जाएगा।

जल्दी ही जद में आएंगे भूटान, म्यामार और बांग्लादेश

गुवाहाटी में पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सव्यसाची डे ने कहा कि पूर्वोत्तर के इलाकों में रेलवे कनेक्टिविटी और बुनियादी ढांचे को विकसित करने के लिए केंद्र ने 1.20 लाख करोड़ रुपये जारी किए हैं। देश की सीमा के करीब कनेक्टिविटी बढ़ाने पर भारतीय रेलवे का विशेष जोर है। हमारा ध्यान फिलहाल भारत-चीन सीमा, म्यांमार और बांग्लादेश की ओर मजबूत रेल नेटवर्क विकसित करने पर है। ताकि वहां गतिशील रेल नेटवर्क डेवलप किया जा सके।

उन्होंने कहा कि इम्फाल-मोरेह लाइन को मंजूरी दे दी गई है। भारत और म्यांमार के बीच चल रहे कलादान मल्टीमॉडल परियोजना को जोड़ने के लिए सैरांग-हबिछुआ रेलवे लाइन को मंजूरी दे दी गई है। भूटान को जोड़ने वाली कोकराझार-गेलेफू रेलवे लाइन और बांग्लादेश के अखौरा तक जाने वाली रेलवे लाइन अगरतला-अखौरा रेलवे प्रोजेक्ट को जल्द ही चालू कर दिया जाएगा।

कनेक्टिविटी से लॉजिस्टिक्स का सामान लाना होगा आसान

उन्होंने कहा हमारा ध्यान उत्तर पूर्व में आसानी से लॉजिस्टिक्स के लिहाज से अनुकूल सुविधाएं विकसित करने पर है। इससे पूर्वोत्तर के हिस्सों में आने वाले उदपादों की लागत में कमी आएगी। इसमें रेलवे एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

सब्यसाची डे ने कहा उत्तर पूर्व में सबसे महत्वपूर्ण परियोजना एक राज्य को दूसरे राज्यों की राजधानी से कनेक्ट करने का है। उन्होंने कहा हम सिक्किम, मिजोरम, मणिपुर और नागालैंड को रेलवे के माध्यम से जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं। सब्यसाची डे ने कहा कि बॉर्डर कनेक्टिविटी बढ़ाने के क्रम में हम उत्तर पूर्व के सीमावर्ती इलाकों सहित अरुणाचल प्रदेश में रेलवे लाइन बिछाने की योजना पर काम कर रहे हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com