यूनीफाई कैपिटल (प्रा लि) को म्युचुअल फंड बिजनेस में प्रवेश के लिए सेबी से मिली इन - प्रिंसिपल मंजूरी

48 लाख करोड़ की म्यूचुअस फंड इंडस्ट्री में अब कंपनियों की दिलचस्पी बढ़ने लगी है। यूनीफाई को भी इस बिजनेस में एंट्री के लिए सेबी से प्रोविजिनल मंजूरी दे दी है।
Sebi
SebiRaj Express

हाईलाइट्स

  • 48 लाख करोड़ से अधिक की है भारतीय म्युचुअल फंड इंडस्ट्री, तेजी से बढ़ रहा आकार

  • यूनीफाई ने 31 दिसंबर 2020 को म्युचुअल फंड लाइसेंस के लिए आवेदन किया था।

  • एमके ग्लोबल व एंजेल वन को भी इस क्षेत्र में आने की सेबी से मिली है सैद्धांतिक मंजूरी।

राज एक्सप्रेस। लगभग 48 लाख करोड़ रुपये की म्यूचुअस फंड इंडस्ट्री में अब कंपनियों की भी दिलचस्पी बढ़ने लगी है। सेबी की वेबसाइट पर 30 सितंबर तक के म्युचुअल फंड स्टेटस के अनुसार हाल के दिनों में बड़ी संख्या में कंपनियों ने लाइसेंस के लिए आवेदन किया है। पोर्टफोलियो मैनेजमेंट कंपनी यूनीफाई कैपिटल प्राइवेट लिमिटेड ने भी म्युचुअल फंड बिजनेस में एंट्री के लिए भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) से इन-प्रिंसिपल (प्रोविजिनल मंजूरी) मिल गई है।

सेबी की वेबसाइट पर म्युचुअल फंड एप्लीकेशंस के स्टेटस के अनुसार यूनीफाई ने 31 दिसंबर 2020 को म्युचुअल फंड लाइसेंस के लिए आवेदन किया था। बता दें यूनीफाई कैपिटल लॉन-ओनली इंडिया सेंट्रिक फंड मैनेजर है। देश के 22 राज्यों में करीब 10 हजार पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विसेज (पीएमएस) और अल्टरनेटिव इनवेस्टमेंट फंड्स (एआईएफ) क्लाइंट्स की बदौलत इसका एसेट्स अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) 20,400 करोड़ रुपये का है। यूनीफाई कैपिटल के संस्थापक, प्रबंध निदेशक और मुख्य निवेश अफसर के शरत रेड्डी ने बताया कि म्युचुअल फंड निवेशकों को अलग-अलग तरीके की रणनीति वाला निवेश विकल्प उपलब्ध कराया जाएगा।

उल्लेखनीय है कि भारतीय म्युचुअल फंड इंडस्ट्री करीब 48 लाख करोड़ रुपये की है और इसमें पोर्टफोलियो मैनेजमेंट सर्विस (पीएमएस) तेजी से आ रही हैं। बजाज फिनसर्व म्युचुअल फंड ने अब तक पांच फंड लॉन्च किए हैं, जबकि हेलिओस एमएफ और जिरोधा फंड हाउस ने दो-दो योजनाएं लॉन्च की हैं। सितंबर में केनेथ एंड्रेड की पीएमएस ओल्ड ब्रिज कैपिटल मैनेजमेंट को म्युचुअल फंड कारोबार के लिए सेबी से अंतिम मंजूरी मिल गई है।

एंड्रेड 2005 से 2015 के दौरान 10 वर्षों तक आईडीएफसी म्युचुअल फंड में निवेश प्रमुख थे। अगस्त में एक पीएमएस हेलिओस कैपिटल मैनेजमेंट को भी सेबी से अंतिम मंजूरी मिल गई थी। हेलिओस कैपिटल के संस्थापक समीर अरोड़ा 1993 से 1998 तक एलायंस कैपिटल म्यूचुअल फंड के चीफ इनवेस्टमेंट ऑफिसर रह चुके हैं। इसके साथ ही एमके ग्लोबल और एंजेल वन को भी म्युचुअल फंड कारोबार की शुरूआत करने के लिए सेबी से सैद्धांतिक मंजूरी मिल चुकी है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com