PM Modi
PM ModiRaj Express

अब भारत को ही विनिर्माण का वैश्विक गंतव्य मानती हैं ऐप्पल-माइक्रोन जैसी दुनिया की दिग्गज कंपनियां

पीएम मोदी ने कहा कि हमने उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना को इस तरह से डिजाइन किया है कि इसकी मदद से विनिर्माण से जुड़ी क्षमताओं को प्रोत्साहित किया जा सके।

हाईलाइट्स

  • भारत में दुनिया की दिग्गज कंपनियों के लिए सभी जरूरी चीजें व कुशल कार्यबल मौजूद

  • पीएम मोदी ने कहा मैं चाहता हूं भारतीयों को भी विकसित देशों जैसी सुविधाएं मिलें

  • 2014 से जो प्रयास शुरू किए वे 40-45 साल पहले शुरु होते तब आज बेहतर होती स्थिति

एक साक्षात्कार में पीएम मोदी ने कहा मैं चाहता हू्ं कि मेरे देश के लोगों को भी वही सुविधाएं मिलें, जो विकसित देशों के नागरिकों को मिलती हैं। अब दुनिया भारत की ताकत को पहचान रही है। वे यहां आ रहे हैं क्योंकि यहां की स्थितियां, कुशल कार्यबल और सभी जरूरी सुविधाएं उनकी कंपनियों और उनके प्रोडक्ट के अनुकूल हैं। यह सब निश्चित ही विदेशी कंपनियों को फायदे में ले जाने वाला है।

राज एक्सप्रेस । प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने उत्पादन से जुड़े प्रोत्साहन या पीएलआई योजना को इस तरह से डिजाइन किया है कि इसकी मदद से विनिर्माण से जुड़ी क्षमताओं को प्रोत्साहित किया जा सके। एक बड़े मीडिया हाउस को दिए एक्सक्लूसिव इंटरव्यू में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एप्पल और माइक्रॉन का उदाहरण देते हुए कहा कि भारत अब विनिर्माण के लिहाज से अत्यन्त महत्वपूर्ण स्थान बन चुका है। भारत में दुनिया के युवा और सबसे प्रतिभाशाली युवा मौजूद हैं। उन्होंने सवाल किया क्या ऐसी स्थिति में भी भारतीय युवाओं को प्रगति और विनिर्माण शक्ति बनने का सपना नहीं देखना चाहिए ?

विकसित देशों के मुकाबले खड़ा हो भारत

पीएम मोदी ने कहा कि मैं चाहता हूं कि भारतीयों को विकसित देशों जैसी सुविधाएं मिलें। दुनिया आज भारत की ताकत को पहचान रही है। वे भारत में आ रहे हैं क्योंकि यहां आना उनकी कंपनी के लिए फायदेमंद है। पीएम मोदी ने कहा कि भारत सरकार ने 2014 से जो प्रयास शुरू किए हैं, वे 40-45 साल पहले शुरु किए जाने चाहिए थे। तब हम आज बेहतर स्थिति में होते। उन्होंने कहा, जब देश को पता चल गया कि क्या करना सही है, दुःख की बात है तब भी निर्माताओं ने गलत निर्णय लिए। इससे हम एक ऐसे दौर में चले गए थे, जिसने उन उम्मीदों को धूमिक कर दिया, जो हमारी प्रगति की वाहक हो सकती थीं।

2014 में शुरू हुआ विनिर्माण सुविधाओं का विकास

पीएम मोदी ने कहा 2014 में जब से भाजपा सरकार सत्ता में आई, तब से देश में विनिर्माण सुविधाएं विकसित करने और व्यापार सुगमता पर ध्यान दिया जाने लगा है। पीएम मोदी ने कहा वैश्विक स्तर का इंफ्रा और कुशल कार्यबल के लिए बेतहर परिस्थितियों के साथ वित्तीय प्रोत्साहनों पर ध्यान केंद्रित करके हम अपने विनिर्माण सेक्टर में बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने भारतीय क्षेत्र में बदलावों की पुष्टि के रूप में एप्पल और माइक्रोन का उदाहरण दिया। आज दुनिया की सभी प्रमुख कंपनियां भारत आने का प्रयास कर रही है।

भारत में लगातार बढ़ रहा विदेशी निवेश

उन्होंने विनिर्माण गंतव्य के रूप में भारत के बढ़ते आकर्षण के बारे में बात करने के लिए एप्पल और माइक्रोन का उदाहरण दिया। भारत में एप्पल की निर्माण से जुड़ी गतिविधियां बढ़ने और माइक्रोन की सेमीकंडक्टर असेंबली भारत में लाने के आकर्षण से समझा जा सकता है कि भारत विनिर्माण का वैश्विक केंद्र बनता जा रहा है। यही वजह है आज दुनिया की सभी बड़ी कंपनियां भारत में उत्पादन सुविधाएं शुरू करना चाहती हैं। सप्लाई चेन के विकास के लिए पर्याप्त निवेश को आकर्षित करने के साथ-साथ विनिर्माण क्षमताओं का विकास किया जाना जरूरी होता है। पीएम मोदी ने कहा हमारी पीएलआई योजनाएं कंपनियों को विनिर्माण क्षमता बढ़ाने और लोकल वैल्यू एडीशन के लिए प्रोत्साहित करने के लिए डिज़ाइन की गई हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com