जातीय सर्वेक्षण रिपोर्ट पर नौ दलों की बैठक मंगलवार को: नीतीश कुमार
जातीय सर्वेक्षण रिपोर्ट पर नौ दलों की बैठक मंगलवार को: नीतीश कुमारRaj Express

जातीय सर्वेक्षण रिपोर्ट पर नौ दलों की बैठक मंगलवार को : नीतीश कुमार

जाति आधारित गणना की रिपोर्ट प्रकाशित कर दी गई और मंगलवार को अपराह्न साढ़े तीन बजे नौ दलों की बैठक बुलाई जाएगी, जिसमें सबकी राय लेकर आगे की कार्रावाई की जाएगी।

हाइलाइट्स :

  • नौ पार्टियों की सहमति से जाति आधारित गणना की रिपोर्ट को पब्लिश कर दिया गया है।

  • परिवार की आर्थिक स्थिति की रिपोर्ट भी जारी होगी।

  • केंद्र वाले कोई काम नहीं कर रहे हैं।

पटना, बिहार। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि जाति आधारित गणना की रिपोर्ट प्रकाशित कर दी गई और मंगलवार को अपराह्न साढ़े तीन बजे नौ दलों की बैठक बुलाई जाएगी, जिसमें सबकी राय लेकर आगे की कार्रावाई की जाएगी।

नीतीश कुमार ने सोमवार को यहां राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के अवसर पर गांधी संग्रहालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम में शामिल बापू को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद संवाददाताओं से बातचीत में कहा, “जाति आधारित गणना की रिपोर्ट को पब्लिश कर दिया गया है। नौ पार्टियों की सहमति से यह सब हुआ है। उन सब पार्टियों के सामने सभी चीजों को प्रस्तुत किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मंगलवार को साढे तीन बजे नौ पार्टियों के लोगों के साथ हमलोग बैठक करेंगे। उसमें एक-एक चीजों का प्रजेंटेशन किया जायेगा। सबकी राय लेकर आगे कदम उठाएंगे।”

मुख्यमंत्री ने कहा कि जातीय गणना के साथ-साथ एक-एक परिवार की आर्थिक स्थिति की जानकारी ले ली गई है, उसकी रिपोर्ट भी जारी होगी। अनुसूचित जाति के लोगों की संख्या बढ़ी है, उनको भी फायदा होगा। उन्होंने कहा कि सबको लाभ मिले इसको लेकर आज की बैठक में एक-एक चीज को रखा जाएगा।

नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अतिपछड़ी जातियों के लिए विष्वकर्मा योजना लागू किये जाने और बिहार में अतिपिछड़ी जातियों की संख्या बढ़ने के सवाल पर कहा कि उन्हें यह सब पता नहीं है, उनलोगों ने क्या लागू किया है। बिहार में हमलोग जितना काम किये हैं उतना आजतक कोई नहीं किया है। बिहार में किसी एक जाति नहीं बल्कि सभी जातियों के हित में काम आगे बढ़ेगा। उन्होंने मोदी सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वर्ष 2011 में केंद्र सरकार ने जनगणना करायी थी लेकिन इसके 10 वर्षों के बाद भी जनगणना नहीं हुई है।

मुख्यमंत्री ने आबादी के अनुपात में आरक्षण का दायरा बढ़ाने के सवाल पर कहा कि अभी कुछ कहना उचित नहीं है। कल सभी के सामने जाति आधारित गणना की रिपोर्ट का प्रजेंटेशन होने के बाद जो भी स्थिति है उसके आधार पर काम आगे बढ़ाने को लेकर हमलोग निर्णय लेंगे। एक-एक बात को सबके सामने रख देना जरूरी है। उसके बाद हमलोग आगे बेहतर करने की कोशिश करेंगे। अभी इस पर कुछ भी कहना ठीक नहीं है।

नीतीश कुमार ने कहा कि वह शुरू से कहते आ रहे हैं कि जिसकी जितनी संख्या है उसकी उतनी भागीदारी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि केंद्र वाले कोई काम नहीं कर रहे हैं। हिंदू या मुसलमान किसी के लिए कोई काम नहीं हो रहा है।

मुख्यमंत्री ने इससे पूर्व कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि गांधी संग्रहालय के बगल में ही पांच हजार क्षमता वाले बापू सभागार का निर्माण कराया गया है, देश में इतना बड़ा सभागार कहीं नहीं है। पटना में बापू टावर का भी निर्माण कराया जा रहा है। आजादी की लड़ाई में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की महत्वपूर्ण भूमिका रही है। बिहार में बापू के द्वारा वर्ष 1917 में किये गये चंपारण सत्याग्रह के 30 वर्ष के अंदर ही देश को आजादी मिल गयी। हम लोगों ने चंपारण सत्याग्रह के 100 वर्ष पूरा होने पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन कराया। उन्होंने हिन्दू-मुस्लिम सहित अन्य सभी धर्मों के लोगों से बापू के बताए विचारों को याद रखने का आग्रह किया।

इस अवसर पर बिहार विधान परिषद के उप सभापति रामचंद्र पूर्वे, वित्त, वाणिज्य कर एवं संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी, विधान पार्षद रामवचन राय एवं संजय कुमार सिंह उर्फ गांधी जी, गांधी संग्रहालय पटना के पूर्व सचिव रजी अहमद, बिहार राज्य नागरिक परिषद के पूर्व महासचिव अरविंद कुमार सिंह, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव डॉ. एस. सिद्धार्थ, आयुक्त पटना प्रमंडल कुमार रवि, जिलाधिकारी पटना चंद्रशेखर सिंह सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति, वरीय अधिकारी, गांधीवादी विचारक एवं बापू के अनुयायी उपस्थित थे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com