शुरू हुई स्वामी आत्मानंद कोचिंग योजना
शुरू हुई स्वामी आत्मानंद कोचिंग योजनाRE

शुरू हुई स्वामी आत्मानंद कोचिंग योजना, इन छात्रों को फ्री में दी जाएगी JEE-NEET कोचिंग सुविधा

आज छत्तीसगढ़ में स्वामी आत्मानंद कोचिंग की शुरुआत हो गई। इस कोचिंग में इंजीनियरिंग- मेडिकल के प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विद्यार्थी निशुल्क तैयारी कर सकेंगे।

हाइलाइट्स-

  • छत्‍तीसगढ़ के छात्रों को मिली सौगात।

  • स्वामी आत्मानंद कोचिंग का शुभारंभ किया।

  • इंजीनियरिंग- मेडिकल के प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विद्यार्थी निशुल्क तैयारी कर सकेंगे।

रायपुर, छत्तीसगढ़। छत्तीसगढ़ के विद्यार्थियों का इंतजार अब खत्म हो गया है। बता दें, छत्तीसगढ़ में आज स्वामी आत्मानंद कोचिंग की शुरुआत हो गई है। जिसका शुभारंभ मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया है। इस कोचिंग में इंजीनियरिंग- मेडिकल के प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए विद्यार्थी निशुल्क तैयारी कर सकेंगे। इस अवसर पर स्कूल शिक्षा मंत्री रविंद्र चौबे और विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

बता दें कि, मुख्‍यमंत्री भूपेश बघेल ने सुबह 11 बजे अपने निवास कार्यालय से मुख्यमंत्री आनलाइन योजना की शुरुआत की। इस योजना में ख्याति प्राप्त एलन करियर इंस्टिट्यूट ने सीएसआर के तहत निशुल्क कोचिंग देने को सहमति दी है। संस्थान और स्कूल शिक्षा विभाग के बीच एमओयू पर हस्ताक्षर भी होगा।

'स्वामी आत्मानंद कोचिंग' योजना के तहत ख्याति प्राप्त प्रशिक्षण संस्थान से राष्ट्रीय प्रवेश परीक्षा प्री मेडिकल टेस्ट (नीट) और प्री इंजीनियरिंग (आईआईटी, जेईई मेन्स, एडवांस) की कोचिंग दी जाएगी। छात्रों को राज्य के 146 विकासखंड मुख्यालयों और 4 शहरी स्त्रोत केन्द्रों रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर और कोरबा में कोचिंग सेंटर के माध्यम से प्री-मेडिकल और प्री-इंजीनियरिंग की कोचिंग दी जाएगी।

ये विद्यार्थी होंगे पात्र:

बता दें कि, छत्तीसगढ़ के कक्षा दसवीं में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी और कक्षा 12वीं में अध्यनरत विद्यार्थियों को कोचिंग दी जाएगी। विद्यार्थी को संबंधित विकासखंड, शहर के शासकीय स्कूलों में कक्षा 12 वीं का नियमित विद्यार्थी होना अनिवार्य होगा। विकासखंड मुख्यालय की स्कूलों में कक्षा 12 वीं में जीव विज्ञान और गणित संकाय में अध्ययनरत विद्यार्थी ही पात्र होंगे। प्रत्येक कोचिंग सेंटर में 75 से 100 विद्यार्थियों का प्रवेश दिया जाना है। इसमें प्री-मेडिकल और प्री-इंजीनियरिंग के लिए अधिकतम 50-50 विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा।

जानकारी के अनुसार, राज्य शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद रायपुर से ऑनलाइन कक्षाएं संचालित की जाएंगी। यह कक्षाएं शाम 3 बजे से 6.30 बजे तक संचालित होंगी, इस संबंध में विषय विशेषज्ञ नोडल अधिकारी और प्राचार्य को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। ऑनलाइन कक्षाओं की यह विशेषता रहेगी कि यह टू-वे संवाद रहेगा, मतलब विद्यार्थी विषय विशेषज्ञों से प्रश्न पूछ सकेंगे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com