शिक्षक दिवस पर 48 शिक्षकों का हुआ सम्मान
शिक्षक दिवस पर 48 शिक्षकों का हुआ सम्मानRaj Express

राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह: Teachers Day 2023 पर 48 शिक्षकों का सम्मान, राज्यपाल और सीएम बघेल हुए शामिल

48 Teachers Honored on Teachers Day 2023: इस दौरान अति विशिष्ट अतिथि के तौर पर स्कूल शिक्षा मंत्री रविन्द्र चौबे और विशिष्ट अतिथि के तौर पर संसदीय सचिव द्वारिकाधीश यादव मौजूद रहे।

हाइलाइट्स

  • शिक्षक दिवस पर राजभवन के दरबार हॉल में राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन।

  • 4 शिक्षकों को प्रदेश के महान साहित्यकारों के नाम पर स्मृति पुरस्कार से सम्मानित किया।

  • इस दौरान स्कूल शिक्षा मंत्री रविन्द्र चौबे और संसदीय सचिव द्वारिकाधीश यादव मौजूद रहे।

48 Teachers Honored on Teachers Day 2023: रायपुर। शिक्षक दिवस के अवसर पर छत्तीसगढ़ के राज्यपाल विश्वभूषण हरिचंदन के मुख्य आतिथ्य में राजभवन के दरबार हॉल में राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह का आयोजन किया है। शिक्षक दिवस के अवसर पर राजभवन के दरबार हॉल में आयोजित राज्य स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह में 52 शिक्षकों को सम्मानित किया। इनमें से 48 शिक्षक राज्य शिक्षक सम्मान और 4 शिक्षकों को प्रदेश के महान साहित्यकारों के नाम पर स्मृति पुरस्कार से सम्मानित किया। समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया। इस दौरान अति विशिष्ट अतिथि के तौर पर स्कूल शिक्षा मंत्री रविन्द्र चौबे और विशिष्ट अतिथि के तौर पर संसदीय सचिव द्वारिकाधीश यादव मौजूद रहे।

इस समारोह में राज्यपाल प्रदेश के 52 शिक्षकों को सम्मानित किया है। इनमें से 48 शिक्षकों को राज्य शिक्षक सम्मान और 4 शिक्षकों को प्रदेश के महान साहित्यकारों के नाम पर स्मृति पुरस्कार दिया है। समारोह में राज्य शिक्षक पुरस्कार के लिए चयनित शिक्षिकों को 21-21 हजार रूपए और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया इसके साथ ही प्रदेश की महान विभूतियों की स्मृति में दिए जाने वाले पुरस्कार से सम्मानित होने वाले शिक्षकों को 50 -50 हजार रुपए और प्रशस्ति पत्र प्रदान किए।

सीएम भूपेश बघेल ने सभी बधाई देते हुए कहा कि, डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिन को शिक्षक दिवस के मनाया जाता है।आज राष्ट्रनिर्माण समाज निर्माण में शिक्षकों की अहम भूमिका है। आज चंद्रमा अभियान सफल रहा है, इसके पीछे भी गुरुओं का महत्वपूर्ण योगदान है। आज आपके सामने खड़े हैं, उसके पीछे भी गुरुओं का बड़ा योगदान है। आगे बढ़ने के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी है। वातावरण तैयार करना है, जो हमने किया स्कूलों के हमने राशि की कमी नहीं होने दी। विभागीय अधिकारी जब जितना माँगे दिया गया। अच्छे वातावरण के लिए जो आवश्यक है, पहले शिक्षकों की भर्ती हो, दूसरा स्कूल के वातावरण सुंदर हो। दोनों कामों को प्राथमिकता से किया गया है।

CM भूपेश बघेल ने कहा कि कोरोना काल में प्रदेश में किए गए नवाचार की पूरे देश में चर्चा हुई, तारीफ़ की गई। हमारे यहां दसवीं के स्तर से ITI की पढ़ाई शुरू की गई तो इसको पूरे देश भर में सराहा गया। अधिकारी भी राष्ट्रीय स्तर से पहुंचे। अब इसे देश के स्तर पर लागू करने की योजना बना रही। बच्चे हमारे देश के भविष्य हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com