कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ भाजपा में शामिल
कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ भाजपा में शामिलRE

Lok Sabha Election 2024 : कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ भाजपा में शामिल, दो दिन में 3 बड़े नेताओं ने छोड़ी पार्टी

Lok Sabha Election 2024 : कांग्रेस के तेजतर्रार नेता और प्रोफेसर गौरव वल्लभ ने सुबह पार्टी से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में हुए शामिल। कांग्रेस को बताया दिशाहीन।

हाइलाइट्स :

  • कांग्रेस प्रवक्ता गौरव वल्लभ भाजपा में हुए शामिल

  • कांग्रेस को दिशाहीन बताते हुए सुबह दिया इस्तीफा

  • दो बार विधायकी का चुनाव लड़ चुके है गौरव वल्लभ, दोनों बार मिली हार

दिल्ली। कांग्रेस के तेजतर्रार नेता और प्रवक्ता प्रोफेसर गौरव वल्लभ ने सुबह पार्टी से इस्तीफा देने के बाद भाजपा में शामिल हो गए है। जमशेदपुर के एक्सएलआरआई में प्रोफेसर रहे गौरव वल्लभ ने कांग्रेस को सुबह दिशाहीन, सनातन विरोधी और धन निर्माता को गली देने वाली पार्टी बताकर इस्तीफा दे दिया था। दिल्ली स्थित भाजपा मुख्यालय में वरिष्ठ नेता और भाजप महासचिव विनोद तावड़े ने उन्हें पार्टी की सदस्यता दिलाई।

कांग्रेस द्वारा प्राण-प्रतिष्ठा का निमंत्रण ठुकराने को लेकर थे नाराज़ :

भाजपा में शामिल होने के बाद गौरव वल्लभ ने कहा कि मैंने अपने पत्र में अपने दिल की सारी व्यथा लिखी...मेरा शुरू से यही विचार रहा है कि अयोध्या में भगवान श्री राम के मंदिर का निर्माण होना चाहिए। निमंत्रण मिला और कांग्रेस ने निमंत्रण अस्वीकार कर दिया, मैं इसे स्वीकार नहीं कर सकता। इंडिया गठबंधन के नेताओं ने सनातन पर सवाल उठाए, कांग्रेस इसका जवाब क्यों नहीं दे रही?'' मैं आज भाजपा में शामिल हो गया और मुझे उम्मीद है कि मैं भारत को आगे ले जाने के लिए अपनी क्षमता और ज्ञान का उपयोग करूंगा।"

सुबह दिया था इस्तीफा :

भाजपा में शामिल होने से पहल गौरव वल्लभ ने अपने सोशल मीडिया एक्स हैंडल पर एक कांग्रेस से इस्तीफा देते हुए एक पत्र पोस्ट किया था। पत्र के पोस्ट के कैप्शन में उन्होंने लिखा था था कि कांग्रेस पार्टी आज जिस प्रकार से दिशाहीन होकर आगे बढ़ रही है,उसमें मैं ख़ुद को सहज महसूस नहीं कर पा रहा। मैं ना तो सनातन विरोधी नारे लगा सकता हूं और ना ही सुबह-शाम देश के वेल्थ क्रिएटर्स (अडानी और अंबानी) को गाली दे सकता हूँ। इसलिए मैं कांग्रेस पार्टी के सभी पदों व प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफ़ा दे रहा हूं।

वहीँ, उन्होंने ने अपने पत्र में लिखा था कि जब मैंने कांग्रेस पाटी ज्वाइन किया तब मेरा मानना था कि कांग्रेस देश की सबसे पुरानी पाटी है, जहां पर युवा, बौद्धिक लोगों की, उनके आइडिया की क़द्र होती है। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में मुझे यह महसूस हुआ कि पार्टी का मौजूदा स्वरूप नये आइडिया वाले युवाओं के साथ खुद को एडजस्ट नहीं कर पाती।" ऐसा बताया जा रहा है कि वह उदयपुर की अनुसूचित जाति आरक्षित सीट से चुनाव लड़ना चाहते थे लेकिन कांग्रेस ने उन्हें वह सीट देने से इंकार कर दिया और पूर्व आईएएस अधिकारी ताराचंद मीणा को टिकट दे दिया।

दो बार लड़ा विधानसभा चुनाव :

कांग्रेस नेता गौरव वल्लभ ने 2023 में हुए राजस्थान विधानसभा चुनाव में उदयपुर निर्वाचन क्षेत्र से चुनाव लड़ा था जहाँ उन्हें भाजपा के ताराचंद जैन से 32 हज़ार से ज्यादा मतों से हार का सामना करना पड़ा था। इसके पहले वल्लभ ने 2019 में झारखंड के जमशेदपुर पूर्व से चुनाव लड़ा था जहां उन्हें महज़ 18 मत प्राप्त हुए थे और वह तत्कालीन मुख्यमंत्री रघुबर दास और निर्दली उम्मीदवार सरयू रॉय के बाद तीसरे स्थान पर रहे थे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com