Muslim League
Muslim LeagueRE

युवाओं को नौकरी देना 'Muslim League' का कार्यक्रम है ?- पीएम मोदी पर भड़के खड़गे

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम मोदी द्वारा कांग्रेस के घोषणापत्र (Congress Nyay Patra) को Muslim League से जोड़ने वाले बयान पर पलटवार किया है।

हाइलाइट्स :

  • पीएम मोदी के Muslim League वाले बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष का पलटवार

  • कहा- युवाओं को नौकरी देना 'Muslim League' का कार्यक्रम है ?

  • पीएम मोदी ने 2 हफ्ते पहले अजमेर में कांग्रेस के घोषणापत्र को मुस्लिम लीग से मिलता-जुलता बताया था

दिल्ली। कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम मोदी द्वारा चुनाव प्रचार रैलियों में कांग्रेस के घोषणापत्र (Congress Nyay Patra) को मुस्लिम लीग से जोड़ने वाले बयान पर पलटवार किया है। कांग्रेस अध्यक्ष ने पीएम मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि युवाओं को नौकरी देना, उन्हें प्रशिक्षण देना और प्रशिक्षण के लिए 1 लाख रुपये देना, क्या यह मुस्लिम लीग का कार्यक्रम है'? आपको बता दें कि, पीएम मोदी ने 7 अप्रैल को अजमेर में एक जनसभा में कांग्रेस के घोषणापत्र को मुस्लिम लीग (Muslim League) से मिलता-जुलता बताया था

युवाओं को नौकरी देना 'Muslim League' का कार्यक्रम है ? - खड़गे

कांग्रेस सुप्रीमो मल्लिकार्जुन खड़गे ने पीएम मोदी पर पलटवार करते हुए कहा कि "हर महिला को सालाना 1 लाख रुपये देना क्या मुस्लिम लीग का कार्यक्रम है? युवाओं को नौकरी देना, उन्हें प्रशिक्षण देना और प्रशिक्षण के लिए 1 लाख रुपये देना, क्या यह मुस्लिम लीग का कार्यक्रम है'? हमने सबके लिए 25 गारंटी दी है, ये गरीबों के लिए है, ये महिलाओं के लिए है, ये युवाओं के लिए है, ये दलितों के लिए है, हमने ये सबके लिए दी है।''

कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहते है ''जो व्यक्ति हिम्मत हार जाता है और उसके पास बात करने के लिए कोई मुद्दा नहीं होता तो वह ऐसी बातें लेकर आता है। अगर उसके पास अपने ठोस मुद्दे हैं, ठोस काम है तो वह बता सकता है, जैसा कि हमने नरेगा, खाद्य सुरक्षा के बारे में बताया है। उनके पास कहने के लिए कुछ नहीं है और वह हमेशा कांग्रेस, विपक्ष की आलोचना करते हैं और आजकल वह कह रहे हैं कि भारत गठबंधन में कुछ भी नहीं है, कोई नेता नहीं है।"

क्या कहा था पीएम मोदी ने ?

पीएम मोदी ने राजस्थान के अजमेर में एक रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस के घोषणापत्र में पार्टी के विचार स्वतंत्रता-पूर्व अवधि के दौरान मुस्लिम लीग के विचारों से मिलता जुलता बता दिया था। उन्होंने कहा था कि "कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र (Congress Nyay Patra) के रूप में झूठ का पुलिंदा जारी किया है, जिसने पार्टी को बेनकाब कर दिया है। इसके हर पन्ने पर भारत को तोड़ने की कोशिशों की बू आ रही है। यह उन विचारों को दर्शाता है जो आजादी से पहले मुस्लिम लीग के थे। कांग्रेस मुस्लिम लीग को थोपना चाहती है।" आज के भारत पर उस युग के विचार और घोषणापत्र के बाकी हिस्से में कम्युनिस्ट और वामपंथी विचारों का बोलबाला है।"

कांग्रेस ने पीएम मोदी के इस भाषण के बाद 8 अप्रैल को चुनाव आयोग में शिकायत की थी। कांग्रेस के प्रवक्ता जयराम रमेश ने अपने सोशल मीडिया हैंडल ट्विटर एक्स पर कहा था कि मेरे सहयोगियों सलमान खुर्शीद, मुकुल वासनिक, पवन खेरा और गुरदीप सप्पल ने अभी चुनाव आयोग से मुलाकात की है और 6 शिकायतें पेश की हैं और उन पर बहस की है, जिनमें से 2 खुद पीएम के खिलाफ हैं। यह चुनाव आयोग के लिए सभी दलों के लिए समान अवसर सुनिश्चित करके अपनी स्वतंत्रता प्रदर्शित करने का समय है।" हालाँकि, चुनाव आयोग ने कांग्रेस द्वारा शिकायत करने के बाद भी अभी तक कोई प्रतक्रिया नहीं दी है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com