कॉन्क्लेव 2023 को राहुल गांधी ने संबोधित किया
कॉन्क्लेव 2023 को राहुल गांधी ने संबोधित कियाRaj Express

कॉन्क्लेव 2023 को राहुल गांधी ने संबोधित कर अपने संबोधन में कहीं ये बड़ी बातें...

नई दिल्ली में कॉन्क्लेव 2023 को संबोधित कर राहुल गांधी ने कहा- 21वीं सदी के भारत में, संचार वास्तुकला भाजपा से इतनी अधिक प्रभावित है कि इसके माध्यम से लोगों तक पहुंचना व्यावहारिक रूप से असंभव है।

दिल्‍ली, भारत। दिल्ली में एक कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपना संबोधन दिया। दरअसल, राहुल गांधी ने नई दिल्ली में कॉन्क्लेव 2023 को संबोधित किया।

राहुल गांधी ने कहा- राजनीतिक दौरों में आमतौर पर सार्वजनिक बैठकें आयोजित करना और फिर लौटना शामिल होता है। मुझे नहीं लगता कि,, वह प्रारूप अब शक्तिशाली है। अब जब हम दौरे करते हैं, तो हम उस संदेश के बारे में गहराई से सोचते हैं जो हम देने की कोशिश कर रहे हैं। हम लद्दाख के लोगों को यह संदेश देना चाहते थे कि हम दुर्गमता या खराब सड़कों को लद्दाख के हर कोने तक पहुंचने से नहीं रोकेंगे।

हम लोगों को यह महसूस नहीं होने देंगे कि वे इतने दूर हैं कि हम उन तक नहीं पहुंच सकते। लद्दाख के लिए पर्यटन महत्वपूर्ण है, यह क्षेत्र की जीवन रेखा है। यह बहुत सुंदर है और हम लद्दाख दौरे के माध्यम से कई संदेश देना चाहते थे, जो प्रभावी साबित हुआ। इसने भारत जोड़ो यात्रा प्रारूप के विचार को जारी रखा। यह लोगों से जुड़ने का सबसे अच्छा तरीका है।

कांग्रेस नेता राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगे यह भी कहा, 21वीं सदी के भारत में, संचार वास्तुकला भाजपा से इतनी अधिक प्रभावित है कि इसके माध्यम से लोगों तक पहुंचना व्यावहारिक रूप से असंभव है। यह बिल्कुल स्पष्ट है कि मेरे सभी सोशल मीडिया हैंडल दबाए जा रहे हैं, और आप इसे देख सकते हैं। इसलिए, लोगों से संवाद करने के लिए यात्रा एक आवश्यकता थी। हम विपक्ष में चाहे कुछ भी कहें, वह राष्ट्रीय मीडिया में बिना तोड़-मरोड़ कर पेश नहीं होता।

आगे उन्‍होंने कहा- मेरे लिए, बड़ी सीख पुरानी शैली का संचार था, जिसकी शुरुआत महात्मा गांधी जी ने की थी - लोगों के पास जाना और उनसे मिलना। बीजेपी कितनी भी कोशिश कर ले या मीडिया कितना भी इसे तोड़-मरोड़कर पेश करने की कोशिश कर ले, ये काम नहीं करता. यह लगभग मास मीडिया कैप्चर को उलटने जैसा है। व्यक्तिगत सीख यह थी कि जहां आप सोचते हैं कि आपकी सीमा है, वहां वास्तव में वह कहीं नहीं है। आपकी सीमा आपकी कल्पना से कहीं अधिक है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com