दीपक जोशी ने थामा कांग्रेस का दामन
दीपक जोशी ने थामा कांग्रेस का दामनPriyanka Yadav-RE

बड़ी खबर: भाजपा छोड़ दीपक जोशी ने थामा कांग्रेस का दामन, कमलनाथ की मौजूदगी में ली सदस्यता

बड़ी खबर: भाजपा को लगा बड़ा झटका है,आज मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के बेटे और पूर्व मंत्री दीपक जोशी (Deepak Joshi) ने थामा कांग्रेस का हाथ।

मध्य प्रदेश। चुनाव से पहले राजनीतिक जगत में नेताओं का एक पार्टी से दूसरी पार्टी में शामिल होने की प्रक्रिया लगातार जारी है इस बीच ही भाजपा को एक बार फिर से बड़ा झटका लगा है। आज मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कैलाश जोशी के बेटे और पूर्व मंत्री दीपक जोशी (Deepak Joshi) कांग्रेस में शामिल हुए है।

दीपक जोशी कांग्रेस में शामिल:

शनिवार को दीपक जोशी कांग्रेस में शामिल हो गए। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की मौजूदगी में कांग्रेस जॉइन की हैं। मध्यप्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट कर लिखा- दीपक जोशी का कांग्रेस में स्वागत: अपने पिता की तस्वीर के साथ कमलनाथ जी के कुशल नेतृत्व वाली कांग्रेस में शामिल हुये दीपक जोशी जी का हार्दिक स्वागत है। मध्यप्रदेश बचाने के इस महाअभियान में दीपक जोशी जी हमारे सम्मानित साथी और सहयोगी रहेंगे।

बता दें, विधानसभा चुनाव के इस वर्ष में दीपक जोशी का कांग्रेस के पाले में जाना महत्वपूर्ण राजनैतिक घटना के रूप में देखा जा रहा है। दीपक जोशी के स्वागत की तैयारियों के लिए प्रदेश कांग्रेस कार्यालय में बैनर पोस्टर भी लगाए गए हैं। इसके पहले जोशी कल फिर अपने गृह जिला देवास में मीडिया के सामने दोहराया कि वे कांग्रेस की सदस्यता लेने के अपने फैसले पर अडिग हैं। इस दौरान उन्होंने सत्तारूढ़ दल भाजपा और उसके नेताओं पर अनेक आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी और उनके परिवार की लगतार उपेक्षा की जा रही है।

देवास जिले के बागली और हाटपीपल्या विधानसभा सीट से भाजपा के टिकट पर विधायक रह चुके दीपक जोशी काफी दिनों से प्रदेश भाजपा संगठन से नाराज चल रहे थे और उन्होंने एक मई को अपनी नाराजगी सार्वजनिक तौर पर व्यक्त करते हुए कांग्रेस का दामन थामने के संकेत दिए थे। जोशी, शिवराज सरकार में वर्ष 2018 के पहले तकनीकी शिक्षा मंत्री भी रहे हैं। लगभग साठ वर्षीय श्री जोशी, भाजपा के वरिष्ठ, संत छवि के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत कैलाश जोशी के पुत्र हैं। वे शुरूआत से ही भाजपा से जुड़े रहे।

वही, दीपक जोशी के पिता एवं जनसंघ के संस्थापकों में शामिल कैलाश जोशी इस राज्य के मुख्यमंत्री रहे हैं और उनकी छवि बेहद साफ सुथरी और ईमानदार व्यक्ति के रूप में रही है। अब भी पुराने राजनेता उनकी कार्यशैली और ईमानदारी की मिसाल अक्सर देते हैं। राजनैतिक प्रेक्षकों का कहना है कि जोशी का सत्तारूढ़ भाजपा को छोड़ना और मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस में जाना निश्चित ही भाजपा के लिए बड़ा झटका है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com