CBI ने MP में रेल ई-टिकट की अवैध बिक्री को लेकर की छापेमारी-डिजिटल डिवाइस, आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद

CBI LATEST RAID : एजेंट कथित रूप से टिकट खरीदने के लिए मैन्युअल प्रविष्टि प्रक्रिया को दरकिनार करते हुए अवैध सॉफ्टवेयर का उपयोग कर रहे थे, एजेंट यह टिकट यात्रियों को प्रीमियम रेट पर बेचते थे।
CBI RAID
CBI RAID Social Media

भोपाल। केंद्रीय जांच ब्यूरो ( सीबीआई ) की केंद्रीय टीम ने आईआरसीटीसी वेबसाइट के माध्यम से भारतीय रेलवे के आरक्षित बर्थ ई-टिकट की अवैध बिक्री से संबंधित मामले की चल रही जांच को लेकर मध्यप्रदेश मे छापेमारी की है। जानकारी के अनुसार आईआरसीटीसी वेबसाइट के माध्यम से भारतीय रेलवे के आरक्षित बर्थ ई-टिकटों की अवैध बिक्री से संबंधित मामले की जाँच सीबीआई कर रही है। इस मामले में सीबीआई ने मध्यप्रदेश में छापा मारकर अवैध सॉफ्टवेयर वाले डिजिटल डिवाइस, मोबाइल फोन, आपत्तिजनक दस्तावेज और अवैध सॉफ्टवेयर का उपयोग कर पूर्व में बुक किए गए रेल टिकट की कॉपी बरामद की है।

सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि जांच के दौरान पाया गया कि एजेंट कथित रूप से टिकट खरीदने के लिए मैन्युअल प्रविष्टि प्रक्रिया को दरकिनार करते हुए अवैध सॉफ्टवेयर का उपयोग कर रहे थे, एजेंट यह टिकट यात्रियों को प्रीमियम रेट पर बेचते थे। सीबीआई ने इस अवैध गतिविधि में शामिल एजेंटों की पहचान की और एक साथ तलाशी ली है । विभिन्न एजेंटों को अवैध सॉफ्टवेयर बेचने के लिए जिम्मेदार व्यक्ति की भी पहचान की गई। सीबीआई अधिकारियों ने बताया कि मामले में जांच जारी है। जाँच पूर्ण होने के बाद नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी। किस राज्य से कितनी गिरफ़्तारी होगी यह बताना अभी मुश्किल है। बरामद किये गए आपत्तिजनक दस्तावेज और अवैध सॉफ्टवेयर के आधार पर आरोप तय होंगे।

पांच राज्यों में छापेमारी

आईआरसीटीसी वेबसाइट के माध्यम से भारतीय रेलवे के आरक्षित बर्थ ई-टिकटों की अवैध बिक्री मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई ) ने उत्तर प्रदेश, बिहार, गुजरात, मध्य प्रदेश और दिल्ली में 12 स्थानों पर छापेमारी की है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com