युवाओं को साधने कांग्रेस ने जयवर्धन सिंह को दी जिम्मेदारी, इंदौर पहुंचकर युवा कांग्रेस नेताओं से की मुलाकात

शुक्रवार को जयर्वधन सिंह इंदौर पहुंचे। उन्होंने भाजपा सरकार और उसकी कार्यप्रणाली पर सीधा हमला करते हुए कहा कि तहसील, थाने, कलेक्ट्रेट से लगाकर अधिकांश शासकीय जगह पर दलाल हावी है।
पूर्व मंत्री और विधायक जयवर्धन सिंह
पूर्व मंत्री और विधायक जयवर्धन सिंह RE-Indore

इंदौर। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर अब कांग्रेस तैयार नजर आ रही है। कांग्रेस की ओर से बड़े नेताओं को जिम्मेदारियां देने का सिलसिला भी जारी है। सियासत के गढ़ इंदौर और धार्मिक नगरी उज्जैन की जिम्मेदारी कांग्रेस की ओर से पूर्व मंत्री और विधायक जयवर्धन सिंह को सौंपी गई है, जहां जयवर्धन सिंह अपनी युवा सोच का दम दिखाते हुए कांग्रेस को जमीनी स्तर पर मजबूत दे रही है। इसी सिलसिले में शुक्रवार को जयर्वधन सिंह इंदौर पहुंचे। उन्होंने भाजपा सरकार और उसकी कार्यप्रणाली पर सीधा हमला करते हुए कहा कि तहसील, थाने, कलेक्ट्रेट से लगाकर अधिकांश शासकीय जगह पर दलाल हावी है। आम नागरिक को आज कुछ भी काम करवाना हो तो उसके लिए दलाल मौजूद है। भाजपा सरकार से व्यापारी वर्ग, बुद्धिजीवी वर्ग, किसान, युवा हर वर्ग परेशान हो गया है।

कमलनाथ को मिले पांच साल का समय

इंदौर में मेट्रो की शुरुआत कांग्रेस ने की। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान बड़ी-बड़ी बात करते हैं, लेकिन काम कमलनाथ का नजर आता है। अब जनता जागरुक हो गई है। सभी को समझ आने लगा है कि किस तरह का परिवर्तन उन्हें चाहिए। हर वर्ग परेशान है। अब जैसे-जैसे समय पास आएगा कांग्रेस को एक तरफा मत मिलेगा यह तय है। अब लोग चाहते हैं कि कमलनाथ को पांच साल का समय मिले ताकि प्रदेश में बढ़ रहे भ्रष्टाचार, बेरोजगारी को दूर किया जाए और किसानहित में ठोस कदम उठाए जाए।

चार गुना बढ़ गई महंगाई

महंगाई को लेकर उन्होंने कहा केंद्र में 2014 तक जब हमारी सरकार थी तब से लेकर आज तीन से चार गुना महंगाई बढ़ गई है। परिवार का भरण पोषण मुश्किल हो रहा है। भाजपा और शिवराज सिंह चौहान का अदूरदर्शी नेतृत्व इस स्थिति के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार है। इस सब से परेशान जनता के आक्रोश से भली भांति परिचित हो चुके। मप्र की कमलनाथ सरकार ने सत्ता में आते ही माफिया मुक्ति अभियान की शुुरुआत की। उन्होंने माफियाओं को नेस्तनाबूत कर अपराध मुक्त मप्र की ओर कदम बढ़ाया।

पांच लाख का दिया चेक

जयवर्धन सिंह ने माधवपुरा में भेरु सिंह के परिजनों को पांच लाख रुपए का चेक दिया महू के बडग़ोंदा थाना क्षेत्र में हुए उपद्रव के दौरान गोलीबारी में माधवपुरा गांव के भेरु सिंह की गोली लगने से मौत हो गई थी। इसके बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने परिजनों को आर्थिक मदद देने की घोषणा की थी। पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह का कहना था कि मध्य प्रदेश शासन द्वारा आज तक मजिस्ट्रेट जांच की रिपोर्ट नहीं भेजी। इस पर उन्होंने रोष भी व्यक्त किया। उन्होंने दोषियों पर जल्द कार्रवाई की मांग की।

कांग्रेस नेता के घर भी पहुंचे

सदाशिव यादव ने कहा कि आज भेरू सिंह हमारे बीच होते यदि समय रहते पुलिस मुकदमा हत्या का दर्ज कर लेती तो, लेकिन बीजेपी के नेताओं के दबाव में एफ आईआर दर्ज नहीं हो रही थी उसी मांग को लेकर आदिवासी भाई सब इकट्ठे हुए और पुलिस ने गोली चलाई और जो आदिवासी की मौत हुई थी उसके पिता पर ही उल्टा मुकदमा पुलिस ने दर्ज किया और आज तक मजिस्ट्रियल जांच का क्या हुआ यह नहीं पता है कौन दोषी है नहीं पता। जयवर्धन सिंह इसके बाद कांग्रेस विधायकों से मिलते हुए कांग्रेस नेता दीपक पिंटू जोशी के घर पर मिलने पहुंचे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com