शिवराज की लाड़ली बहनों के साथ धोखा
शिवराज की लाड़ली बहनों के साथ धोखाRaj Express

Ladli Bahna Yojna: शिवराज की लाड़ली बहनों के साथ हुआ धोखा, खाते में पैसे आते ही हुए गायब

Ladli Bahna Yojna : महिलाओं के खाते में लाडली बहना योजना के एक-एक हजार रुपए आने का मैसेज आया और उसके कुछ देर बाद पैसे निकालने का मैसेज भी आया।

Fraud With Ladli Bahna : मध्यप्रदेश में सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं में सर्वाधिक लोकप्रिय योजना लाड़ली बहना योजना (Ladli Bahna Scheme) में धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। इसके साथ PM किसान सम्मान निधि (PM Kisan Samman Nidhi) योजना में भी ऐसी धोखाधड़ी देखी जा रही है। मुरैना (Morena) में किसान सम्मान निधि और लाड़ली बहना योजना के तहत आए पैसों को निकालने की जानकारी सामने आई है। इस मामले में पीड़ितों द्वारा ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक (Gram Panchayat Employment Assistant) पर धोखाधड़ी का केस दर्ज किया गया है।

यह है मामला :

सरकार द्वारा चलायी जा रही योजनाओं में धोखाधड़ी का मामला मुरैना का है। दरअसल, मुरैना के पोरसा जनपद के दीनापुरा गांव में महिलाओं के साथ रोजगार सहायक ने धोखे से पैसे निकाल लिए है। रोजगार सहायक ने पहले फिनो बैंक का कियोस्क सेंटर में मनरेगा की मजदूरी दिलाने के नाम पर खाते खुलवाएं। खाते का एटीएम और पासबुक भी महिलाओं के पास नहीं, संचालक के पास था। ऐसे में जब महिलाओं के खाते में लाडली बहना योजना के एक-एक हजार रुपए आने का मैसेज आया और उसके कुछ देर बाद पैसे निकालने का मैसेज भी आया। इसके बाद यह धोखाधड़ी का मामला सामने आया।

45 बहनों के साथ किया धोखा, सरपंच और सचिव शामिल

एक या दो नहीं यह धोखाधड़ी कुल 45 महिलाओं के साथ हुई है। महिलाओं ने ग्राम पंचायत के रोजगार सहायक पर धोखाधड़ी का केस दर्ज कराया है। पुलिस ने 7 महिलाओं का बयान लेने के बाद ये केस दर्ज किया है। महिलाओं ने आरोप लगाया है कि यह सरपंच और सचिव की मिली-भगत से उनके खाते में आए एक-एक हजार रुपये निकाले गए हैं। बताया जा रहा है कि, रोजगार सहायक ने दो साल पहले महिलाओं का आधार कार्ड और फोटो लेकर फिनो बैंक में खाते खोले थे।

किसानों के ATM और पासबुक पर भी रोजगार सहायक का कब्ज़ा :

महिलाओं के खाते में मनरेगा से लेकर ग्राम पंचायत के अन्य फंड का पैसा भी आया है। जिसे रोजगार सहायक और उसके साथ शामिल लोगों ने निकाल लिया है क्योंकि महिलाओं के खातों के एटीएम और किताब रोजगार सहायक के पास थी। इसी तरह किसानों के साथ भी हो रहा है। बताया जा रहा है कि, उनके खाते में किसान सम्मान निधि के पैसे का मैसेज तो आ रहा है लेकिन एटीएम और पासबुक रोजगार सहायक के पास होने के कारण हुआ उस राशि को नहीं निकाल पा रहे हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com