नायाब तहसीलदार को दिया क्लास-2 अधिकारी का दर्जा
नायाब तहसीलदार को दिया क्लास-2 अधिकारी का दर्जाRaj Express

MP ASLR: नायाब तहसीलदार को दिया क्लास-2 अधिकारी का दर्जा, ASLR बोले हमें क्यों छोड़ दिया- पहले थे दोनों एक समान

ASLR of Madhya Pradesh Angry over the status of Class-2 Officer: सहायक अधीक्षक भू- अभिलेख और नायाब तहसीलदार के पद कार्यपालिक तृतीय श्रेणी का दर्जा प्राप्त है।

हाइलाइट्स

  • भू- अभिलेख अधिकारी संघ ने अपनी नाराजगी जताई है।

  • ASLR और नायब तहसीलदार दोनों पद एक समान श्रेणी के राजस्व अधिकारी।

  • ASLR की मांग हमें भी दिया जाये राजपत्रित क्लास-2 अधिकारी का दर्जा।

भोपाल। मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सरकार सभी वर्गों को संतुष्ट करना चाहती है। इसी क्रम में शासकीय अधिकारियों और कर्मचारियों को भी कई सौगाते दी जा रही हैं। हाल ही में नायाब तहसीलदारों (Nayab Tehsildar) को राजपत्रित सेवा क्लास-2 अधिकारी (Gazetted Service Class-2 Officer) का दर्जा दिया गया है। शासन के इस कदम से सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख (ASLR) नाराज हो गए हैं। भू- अभिलेख अधिकारी संघ (Land Records Officers Association) ने इस सम्बन्ध में शासन को पत्र लिखकर अपनी नाराजगी और मांग दोनों से अवगत करवा दिया है।

दरअसल, नायाब तहसीलदार और सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख (ASLR) के संगठनों ने संयुक्त रुप से बीते दिनों अपनी मांगों (Demand) को लेकर शासन को ज्ञापन सौंपा था, जिसमें प्रमुख रूप से कार्यपालक तृतीय श्रेणी से राजपत्रित सेवा द्वितीय श्रेणी अधिकारी (Gazetted Service Class-2 Officer) का दर्जा देने की मांग शामिल थी। शासन ने नायब तहसीलदारों को राजपत्रित सेवा द्वितीय श्रेणी अधिकारी का दर्जा दे दिया। इसके आदेश सामान्य प्रशासन विभाग की टीप के बाद राजस्व विभाग ने 6 सितम्बर 2023 को जारी कर दिए। इस आदेश के जारी होने के बाद से ही भू- अभिलेख अधिकारी संघ (Land Records Officers Association) ने अपनी नाराजगी जताई है।

शासन को भेजा पत्र, पूछा हमें क्यों छोड़ा?

भू- अभिलेख अधिकारी संघ के बैनर तले सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख (ASLR) ने शासन से पूछा है कि, जब नायाब तहसीलदार और सहायक अधीक्षक भू-अभिलेख (ASLR) द्वारा एक साथ राजपत्रित सेवा द्वितीय श्रेणी अधिकारी का दर्जा देने की मांग की गई थी तो फिर दोनों को दर्जा क्यों नहीं दिया गया सिर्फ नायाब तहसीलदार पर मेहरबानी क्यों की गई है।

पहले थे दोनों पद एक समान

सहायक अधीक्षक भू- अभिलेख और नायाब तहसीलदार के पद कार्यपालिक तृतीय श्रेणी (Executive Class III) का दर्जा प्राप्त है। दोनों ही पदों की भर्ती, पदोन्नति, वेतन- नियम एक समान है। यह दोनों ही पद एक समान श्रेणी के राजस्व अधिकारी है। शासन के आदेश के बाद नायब तहसीलदार को सहायक अधीक्षक भू- अभिलेख से उच्च श्रेणी अधिकारी माना जायेगा। गौरतलब है कि, अब नायब तहसीलदार राज्यपत्रित सेवा द्वितीय श्रेणी अधिकारी हो गए और सहायक अधीक्षक भू- अभिलेख पुरानी स्थिति में ही रह गए है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com