Ram Mandir: उज्जैन महाकाल लोक से 5 लाख लड्डू आयोध्या के लिए रवाना

Ram Mandir: 22 को रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के लड्डुओं का प्रसाद बंटेगा। ऐसे में आज उज्जैन महाकाल लोक से 5 लाख लड्डू आयोध्या के लिए रवाना...
आज उज्जैन से 5 लाख लड्डू जाएंगे अयोध्या
आज उज्जैन से 5 लाख लड्डू जाएंगे अयोध्याSocial Media

हाइलाइट्स :

  • महाकाल मंदिर के लड्डुओं का प्रसाद अयोध्या में बंटेगा

  • आज उज्जैन से 5 लाख लड्डू आयोध्या के लिए रवाना

  • सीएम यादव ने भगवा ध्वज लहराकर प्रसाद रथों को रवाना किया

Ram Mandir: 22 को रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा कार्यक्रम में उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर के लड्डुओं का प्रसाद बंटेगा। ऐसे में आज उज्जैन महाकाल लोक से 5 लाख लड्डू आयोध्या के लिए रवाना किए। गुरुवार सुबह मुख्यमंत्री ने तुलसी मानस प्रतिष्ठान (मानस भवन) पहुंचकर भगवा ध्वज लहराते हुए इन प्रसाद रथों को अयोध्या के लिए रवाना किया।

CM यादव की उपस्थिति में महाकाल से अयोध्या जाने वाले प्रसाद रथ का प्रस्थान:

आज मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने मानस प्रतिष्ठान स्थित श्री सिद्ध रघुनाथ मंदिर में भगवान श्रीराम की पूजन-अर्चन कर प्रदेशवासियों के मंगल और कल्याण की कामना की। इसके बाद मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति, उज्जैन द्वारा अयोध्या में भगवान श्रीराम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के उपलक्ष्य में भेजे जा रहे 5 लाख लड्डुओं के प्रसाद रथों को मानस भवन, भोपाल से रवाना किया। इस अवसर पर मंत्री समेत अन्य गणमान्य जनप्रतिनिधि भी उपस्थित रहे।

CM डॉ. यादव बोले- "आज पूरा देश राममय हो रहा है। भगवान भोलेनाथ और भगवान विष्णु दोनों को स्मरण करो तो भगवान हमें मन से आशीर्वाद देते हैं। आज का यह अयोजन महाकाल के दरबार से अयोध्या के लिए लड्डू जाना, इसकी सबसे ज्यादा प्रसन्नता भगवान महाकाल को ही होगी" हमारा सौभाग्य है कि सनातन संस्कृति हमें भगवान श्रीराम और भगवान श्री कृष्ण जी से जोड़ती है। मर्यादा का पाठ और मर्यादा धारण करने के लिए भगवान श्रीराम का अलौकिक दिव्य स्वरूप हमें दिखाई देता है।

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि, आज हमारे सामने वर्तमान की अयोध्या नगरी का यह जो भौगोलिक स्वरूप है, उसे 2 हजार साल पहले सम्राट विक्रमादित्य के काल में जीर्णोद्धार कर नया रूप दिया गया था। भव्य मंदिर भी सम्राट विक्रमादित्य द्वारा बनाया बनवाया गया था वह युग फिर वापस आ रहा है। भगवान श्रीराम पुन: गर्भ गृह में विराजमान हो रहे हैं, महर्षि बाल्मीकि और तुलसीदास जी द्वारा भगवान श्रीराम के जीवन के विविध प्रसंगों को जन-जन तक पहुंचाने का अद्भुत कार्य हुआ है 17 लाख साल बाद भी आज भी वह दृश्य ऐसे लगते हैं जैसे कल की ही बात हो ।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com