PM मोदी की राजस्थान यात्रा
PM मोदी की राजस्थान यात्राRE

PM मोदी की राजस्थान यात्रा, इस अंदाज में निभाया अपना पिछले साल का अधूरा वादा

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान दौरे पर हैं। उन्होंने यहां श्रीनाथजी मंदिर के दर्शन कर सिरोही जिले एक कार्यक्रम में भाग लिया। यहां उन्होंने अपना वादा पूरा करते हुए जनता को संबोधित किया।

PM Modi Rajasthan Visit : आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राजस्थान दौरे पर हैं। उन्होंने यहां श्रीनाथजी मंदिर के दर्शन कर सिरोही जिले एक कार्यक्रम में भाग लिया। यहां उन्होंने अपना वादा पूरा करते हुए जनता को संबोधित किया। उन्होंने अपने ही अंदाज में अपने संबोधन की शुरुआत की। इस बार PM मोदी ने यहां जनता को लाउडस्पीकर का इस्तेमाल करते हुए संबोधित किया।

PM मोदी ने निभाया अपना अधुरा वादा :

दरअसल, आज बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी राजस्थान में 5500 करोड़ रुपए से अधिक की सौगात देने पहुंचे। यहां सबसे पहले PM नरेंद्र मोदी का संबोधन नाथद्वारा में हुआ। उन्होंने अपने संबोधन में कहा, 'राजस्थान को भी उसकी पहली वंदे भारत ट्रेन मिल चुकी है। मावली-मारवाड़ रेल गेज परिवर्तन की मांग भी कब से चल रही थी, यह पूरी हो रही है। अहमदाबाद-उदयपुर के भी पूरे रूट को ब्रॉडगेज में बदलने का काम पूरा हुआ है। नए रूट पर जो ट्रेन चल रही है, उसका बहुत लाभ उदयपुर और आसपास के लोगों को हो रहा है। पूरे रेलवे को मानव रहित फाटकों से मुक्त करने के बाद बहुत तेजी से पूरे नेटवर्क का हम बिजली करण कर रहे हैं। हम उदयपुर रेलवे स्टेशन की तरह ही देश के सैकड़ों रेलवे स्टेशनों को आधुनिक बना रहे हैं और उनकी कैपेसिटी बढ़ा रहे हैं। हम माल गाड़ियों के लिए स्पेशल ट्रैक यानी फ्रेट कॉरिडोर बना रहे हैं।'

राजस्थान का रेल बजट बढ़ा 14 गुना :

PM मोदी ने आगे कहा, 'पिछले 9 साल में राजस्थान का रेल बजट भी 2014 की तुलना में 14 गुना बढ़ा है। बीते 9 साल में राजस्थान के लगभग 75% रेलवे नेटवर्क का बिजली करण किया जा चुका है। यहां गेज परिवर्तन और दोहरीकरण का बड़ा लाभ डूंगरपुर, उदयपुर चित्तौड़गढ़, पाली, सिरोही और राजसमंद जैसे जिलों को मिला है। वह दिन दूर नहीं, जब राजस्थान भी रेल लाइन के शत-प्रतिशत बिजली करण वाले राज्यों में शामिल हो जाएगा। राजस्थान की बेहतर होती कनेक्टिविटी से यहां के टूरिज्म को और यहां के तीर्थ स्थलों में बहुत लाभ हो रहा है। मेवाड़ का यह क्षेत्र हल्दीघाटी की भूमि है। जो राष्ट्र रक्षा के लिए, राणा प्रताप के शौर्य, भामाशाह के समर्पण और पीर पन्नाधाय त्याग के लिए जाता है। इस मिट्टी के कण-कण में वीरता रची बसी है। कल ही देश में महाराणा प्रताप की जयंती पर उन्हें पुण्य भाव से स्मरण किया है। अपनी विरासत की पूंजी को हमें अधिक से अधिक देश दुनिया तक ले जाना आवश्यक है।'

PM मोदी ने की राजस्थान में मंदिरों के विकास पर बात :

PM नरेंद्र मोदी ने राजस्थान में मंदिरों के विकास पर बात करते हुए कहा, 'आज भारत सरकार धार्मिक अलग-अलग सर्किट पर काम कर रही है। कृष्णा सर्किट के माध्यम से भगवान श्री कृष्ण से जुड़े तीर्थों को उनसे जुड़े आस्था स्थलों को जोड़ा जा रहा है। राजस्थान में भी गोविंद देव जी जयपुर, खाटू श्याम जी रींगस सीकर और श्री नाथ जी नाथद्वारा के दर्शनों को आसान बनाने के लिए कृष्ण सर्किट का विकास किया जा रहा है। भारत सरकार सेवा भाव को भक्ति भाव मान कर दिन रात काम कर रही है। श्रीनाथ जी का आशीर्वाद हम सभी पर बना रहे हैं। इसलिए विकास कार्यों की आप सबको एक बार और बधाई देता हूं।' इसके बाद मोदी ने जनता से भारत माता की जय के नारे भी लगवाए।'

संबोधन में किया लाखा बंजारा का जिक्र :

PM नरेंद्र मोदी ने कहा कि, 'राजस्थान और गुजरात के लोगों की जुबान पर लाखा बंजारा का नाम बार-बार आता है। पानी के लिए लाखा बंजारा ने अपना जीवन खपा दिया था। हालात यह है कि, अगर पानी के लिए इतना काम करने वाले बावड़ी, तालाब बनवले वाले लाखा बंजारा, जिनका राजस्थान और गुजरात दोनों जगह नाम बोला जाता है। लेकिन आज हालत यह है कि यही लाखा बंजारा चुनाव में खड़ा हो जाए, तो ये नकारात्मक सोच वाले उसे भी हराने के लिए मैदान में आएंगे। उसके लिए भी पॉलिटिकल पार्टियों का जमघट खड़ा करेंगे।'

इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं बनाने का नुकसान :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान द्वारा इंफ्रास्ट्रक्चर ना बनने पर हुए नुकसान को लेकर कहा कि, 'दूरदृष्टि के साथ इंफ्रास्ट्रक्चर नहीं बनाने का नुकसान राजस्थान ने भी बहुत उठाया है। इस मरुभूमि में कनेक्टिविटी के अभाव में आना-जाना कितना मुश्किल होता था, यह आप भली-भांति जानते हैं और यह मुश्किल सिर्फ आने जाने तक सीमित नहीं थी, बल्कि इससे खेती, किसानी, व्यापार, कारोबार सब कुछ मुश्किल था। प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना साल 2000 में अटल जी की सरकार ने शुरू की थी, इसके बाद 2014 तक लगभग 3 लाख 80 हज़ार ग्रामीण सड़कें बनाई गई। बावजूद उसके देश के लाखों गांव ऐसे भी हैं जो सड़क संपर्क से कटे हुए हैं। 2014 में हमने संकल्प लिया कि हर गांव तक पक्की सड़कें पहुंचा कर रहेंगे। पिछले 9 वर्ष में हमने लगभग 3.50 लाख किलोमीटर नई सड़के गांव में बनाई। इनमें से 70 हज़ार किलोमीटर से ज्यादा सड़कें यहां अपने इस राजस्थान के गांवों में बनी हैं।'

PM मोदी ने बताया अशोक गहलोत को मित्र :

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्बोधन की शुरुआत में वहां के CM अशोक गहलोत को मेरे मित्र अशोक गहलोत कहकर बुलाया। फिर आगे कहा कि, 'राजस्थान भारत देश का सबसे बड़ा राज्य है। राजस्थान के विकास से देश का भी विकास होगा। आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर विकास को भी गति देता है। हम आने वाले 25 साल में विकसित भारत के संकल्प की जब बात करते हैं, तो उसके मूल में यही इंफ्रास्ट्रक्चर एक नई ताकत बनकर के उभर रहा है। आज देश में हर तरह के इंफ्रास्ट्रक्चर बने हैं। अभूतपूर्व निवेश हो रहा है, अभूतपूर्व गति से काम हो रहा है। रेलवे, हाईवे, एयरपोर्ट हर क्षेत्र में भारत सरकार हजारों करोड रुपए निवेश कर रही है। इस साल के बजट में भी भारत सरकार ने इंफ्रास्ट्रक्चर पर 10 लाख करोड़ रुपए खर्च करना तय किया है।'

PM मोदी ने सिद्धि के लिए मांगा आशीर्वाद :

PM नरेंद्र मोदी ने सिद्धि के लिए आशीर्वाद मागते हुए कहा कि, 'मैंने श्रीनाथजी से आजादी के अमृतकाल में विकसित भारत की संकल्प से सिद्धि के लिए आशीर्वाद मांगा है। आज यहां राजस्थान के विकास से जुड़े 5000 करोड़ रुपये से अधिक का शिलान्यास और लोकार्पण हुआ है। यह प्रोजेक्ट राजस्थान की कनेक्टिविटी को नई ऊंचाई पर ले जाएंगे। उदयपुर और शामलाजी के बीच नेशनल हाईवे होने से उदयपुर, डूंगरपुर और बांसवाड़ा को बहुत फायदा होगा। इससे शामलाजी और काय के बीच की दूरी की कब दूरी कम हो जाएगी।

बिलाड़ा, जोधपुर, जोधपुर से भी बॉर्डर एरिया तक बहुत सुविधा होगी। इसका एक बड़ा फायदा यह भी होगा कि जयपुर से जोधपुर की दूरी भी तीन घंटे कम हो जाएगी। चारभुजा और निचली ओड़न और प्रोजेक्ट से वर्ल्ड हेरिटेज साइट कुंभलगढ़, हल्दीघाटी और श्रीनाथजी के दर्शन करना बहुत ही आसान हो जाएगा। श्री नाथद्वारा से देवगढ़ मदारिया की रेल लाइन मेवाड़ से मारवाड़ को जोड़ेगी। इससे मारवाड़, माइनिंग इंडस्ट्री और व्यापारियों को बहुत मदद मिलेगी। मैं सभी राजस्थान वासियों को इन विकास कार्यों के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com