चंद्रबाबू की गिरफ्तारी में प्रोटोकॉल का उल्लंघन : तेदेपा
चंद्रबाबू की गिरफ्तारी में प्रोटोकॉल का उल्लंघन : तेदेपाRaj Express

चंद्रबाबू की गिरफ्तारी में प्रोटोकॉल का उल्लंघन : तेदेपा

तेदेपा ने आंध्र प्रदेश पुलिस के आपराधिक जांच विभाग के अधिकारियों पर पार्टी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को गिरफ्तार करने में प्रोटोकॉल का पूरी तरह से उल्लंघन करने का आरोप लगाया।

हाइलाइट्स :

  • चंद्रबाबू नायडू को अवैध रूप से गिरफ्तार किया गया।

  • गिरफ्तारी के दौरान प्रोटोकॉल का पूरी तरह से उल्लंघन किया गया।

  • चंद्रबाबू नायडू का इस मामले से कोई संबंध नहीं है।

विजयवाड़ा, आंध्र प्रदेश। तेलुगू देशम पार्टी (तेदेपा) ने शनिवार को आंध्र प्रदेश पुलिस के आपराधिक जांच विभाग (सीआईडी) के अधिकारियों पर पार्टी अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू को गिरफ्तार करने में प्रोटोकॉल का पूरी तरह से उल्लंघन करने का आरोप लगाया।

तेदेपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता कोम्मारेड्डी पट्टाभिराम ने मीडिया को जारी एक वीडियो संदेश में कहा कि चंद्रबाबू नायडू के पास जेड-प्लस सुरक्षा कवर है और उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा गार्ड (एनएसजी) कमांडो द्वारा भी संरक्षित किया जाता है। ऐसे किसी भी व्यक्ति को हिरासत में लेते समय एक निश्चित प्रोटोकॉल का पालन किया जाना चाहिए। इसके विपरीत सीआईडी अधिकारी 300-400 की संख्या में पुलिस बल के साथ कुरनूल जिले के नंद्याल में उस क्षेत्र में पहुंचे, जहां चंद्रबाबू नायडू डेरा डाले हुए थे। पुलिस ने वहां सभी पार्टी कार्यकर्ताओं को जबरन बाहर निकालना शुरू कर दिया।

उन्होंने आरोप लगाया कि सीआईडी अधिकारी कुछ जेसीबी भी लेकर आये थे और हंगामे का माहौल बना दिया। चंद्रबाबू नायडू ने उनसे केवल यह पूछा कि उन्हें किस आधार पर गिरफ्तार किया जा रहा है और प्रथम दृष्टया सबूत क्या है कि उन्हें किस मामले में हिरासत में लिया जा रहा है। अधिकारियों ने सवालों का जवाब देने से इनकार कर दिया और उन्होंने चंद्रबाबू को अवैध रूप से गिरफ्तार कर लिया।

सूत्रों ने हालांकि दावा किया है कि चंद्रबाबू नायडू को कौशल विकास फंड घोटाला मामले में दो साल पहले दर्ज प्राथमिकी के आधार पर हिरासत में लिया गया है। इस संबंध में तेदेपा प्रवक्ता ने सवाल किया कि पिछले दो वर्षों में संबंधित प्रकरण में एक भी सबूत क्यों नहीं पेश किया गया। उन्होंने दावा किया कि बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार पैदा करने के लिए कौशल विकास चंद्रबाबू नायडू का दृष्टिकोण है और इससे लाखों युवाओं को रोजगार मिला है।

पट्टाभिराम ने कहा, “हम मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी को चुनौती देते हैं कि वह अपने पैतृक गांव इडुपुलापाया में स्थित कौशल विकास केंद्र का दौरा करें और देखें कि यह कैसे काम कर रहा है। पूरा मामला डिजाइनटेक को जीएसटी नोटिस के आसपास घूमता है, जिसके बारे में कहा जाता है कि उसने कुछ कर का भुगतान करने में चोरी की है।” उन्होंने सवाल किया कि इसे भ्रष्टाचार के मामले में कैसे बदला और चंद्रबाबू नायडू को दोषी ठहराया जा सकता है जबकि उनका इस मामले से कोई संबंध नहीं है और यह डिजाइन टेक द्वारा कर चोरी का एक साधारण मामला है।

तेदेपा नेता ने कहा, “चूंकि मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी 16 महीने तक जेल में थे, इसलिए वह चाहते हैं कि चंद्रबाबू नायडू कम से कम 16 घंटे जेल में रहें।”

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com