फिट रहने के लिए वॉक ही काफी नहीं
फिट रहने के लिए वॉक ही काफी नहींSyed Dabeer Hussain - RE

फिट रहने के लिए वॉक ही काफी नहीं, पॉश्चर और चाल पर भी ऐसे दे सकते हैं ध्‍यान

आप भी वॉक करते हैं, तो अच्‍छी बात है। लेकिन बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए घंटों पैदल चलना ही पर्याप्‍त नहीं होता। इस दौरान अपने पॉश्‍चर, चाल और कदमों पर भी ध्यान देना जरूरी है।

हाइलाइट्स :

  • वॉकिंग स्‍वस्‍थ रहने का सरल और प्रभावी तरीका है।

  • वॉक करते समय बॉडी पॉश्‍चर पर दें ध्‍यान।

  • वॉकिंग के लिए फिटिंग वाले वॉकिंग शूज का चुनाव करना जरूरी।

  • सही चाल निचले शरीर पर पड़ने वाले तनाव को कम करती है।

राज एक्सप्रेस। पैदल चलना एक बेहतरीन फिजिकल एक्टिविटी है। यह हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद है। इससे न केवल मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत मिलती है, बल्कि यह मेटाबॉलिज्‍म को भी बढ़ावा देती है। आप अपनी फिटनेस को बनाए रखने के लिए रोजाना घंटों तक वॉक करते होंगे, लेकिन क्‍या वास्‍तव में आपको अपनी सेहत में कुछ अंतर दिखाई देता है। अगर नहीं , तो इसका मतलब है कि आपको वॉक करने की पूरी नॉलेज नहीं है। स्वस्थ शरीर के लिए खूब पैदल चलना ही काफी नहीं होता, बल्कि इस दौरान अपनी चाल, पॉश्चर, जूतों का चुनाव भी बहुत मायने रखता है। आपने इन सब चीजों पर ध्‍यान नहीं दिया, तो आपकी घंटों की वाॅक भी बर्बाद हो जाएगी। अगर आप वाॅक करने के ज्‍यादा लाभ चाहते हैं, तो यहां बताई गईं उन चीजों के बारे में जान लीजिए, जो वॉक करने के दौरान बहुत जरूरी है।

पॉश्चर पर ध्‍यान दें

  • बैठते, खड़े हुए या चलते हुए पॉश्चर बहुत जरूरी है। पॉश्चर आपको आसानी से चलने और चोट को रोकने में मदद करता है।

  • वॉक करते समय सिर को उठाकर चलें।

  • चलते वक्‍त सामने वाले रास्‍ते पर फोकस करें।

  • कंधों को पीछे और नीचे रखें। इस समय आर्म्‍स रिलेक्‍स रहने चाहिए।

  • एब्स को टाइट रखें ।

  • ध्‍यान रखें कि आपके कूल्हे, घुटने, टखने और दूसरा पैर का अंगूठा भी सीधा हो। इससे आपको निचले आधे हिस्से पर दबाव पड़ने से बचने में मदद मिल सकती है।

चाल पर फोकस जरूरी

  • आप कैसे चलते हैं यह भी फिटनेस में बहुत मायने रखता है। सबसे पहले अपनी एड़ी को जमीन पर रखें फिर फुट की बॉल और फिर पैर की उंगलियों को जमीन पर रखना चाहिए। इससे चलते समय निचले शरीर पर पड़ने वाले तनाव को प्रबंधित करने में मदद मिलती है। बता दें कि पैरों को जमीन पर जोर से पटकने से घुटनों, कूल्हों और टखनों पर चोट लगने का खतरा बढ़ जाता है।

  • चलते समय छोटे कदम उठाएं। लंबे कदम जोड़ों पर अतिरिक्त तनाव पैदा करते हैं।

  • हर मिनट 100 कदम चलना जरूरी है।

सही से करें जूतों का चुनाव-

  • पैदल चलने के लिए जूते का सही चुनाव भी महत्वपूर्ण है। इसके लिए बाजार में मिलने वाले वॉकिंग शूज अच्‍छा विकल्‍प है।

  • चलने वाले जूतों में कुछ खास तरह की विशेषताएं होती हैं। ये लाइट वेट होते हैं और इनकी एड़ी गद्देदार। इससे किसी भी व्यक्ति की चाल को सपोर्ट किया जा सकता है।

  • वॉक करते समय रनिंग शूज पहनने की भूल न करें। यह आपके पैरों को आगे की ओर धकेलते हैं। इतना ही नहीं , यह आपका ज्‍यादातर वजन पैरों के बाहर डालते हैं। जिसे सुपिनेशन कहते हैं। इसमें झुकते समय टखना बाहर की तरफ मुड़ जाता है, जिससे पैर और टखने पर दबाव पड़ सकता है।

सतर्क रहें, धीरे-धीरे आगे बढ़ें

  • एक्सपर्ट पैदल चलने को बहुत ज्‍यादा रिस्‍की नहीं मानते। उनके अनुसार, यह जोड़ों पर कोई भी दबाव डाले बिना कैलोरी बर्न करने का आसान तरीका है। वॉक के लिए निकलने से पहले पॉश्‍चर और चाल के अलावा सतर्क रहने की सलाह दी जाती है।

  • वॉक करते समय अंधेरे में सड़क के किनारे ही चलें।

  • जोखिम को कम करने के लिए किसी को अपने साथ लेकर जाएं।

  • अगर आपका शेड्यूल बहुत व्‍यस्‍त है, तो कोई टारगेट न रखें। पहले 1 मील चलें और फिर धीरे-धीरे इसे बढ़ाएं। यह तरीका उन लोगों के लिए बहुत जरूरी है, जिन्‍होंने पिछले एक साल से वॉक नहीं की है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com