कीमोथैरेपी के साइड इफेक्ट्स
कीमोथैरेपी के साइड इफेक्ट्सRaj Express

जानें कीमोथैरेपी के साइड इफेक्ट्स और इन्‍हें मैनेज करने के टिप्‍स

कैंसर के मामले में कीमोथैरेपी सबसे कारगर इलाज है। लेकिन इसके बाद मरीज को कई तरह के दुष्प्रभाव झेलने पड़ते हैं। यहां बताया है कि आप इन्‍हें घर पर रहते हुए कैसे मैनेज कर सकते हैं।

हाइलाइट्स :

  • कीमोथैरेपी कैंसर का बेहतरीन इलाज है।

  • कीमो के साइड इफेक्‍ट भी होते हैं।

  • हाइड्रेशन साइड इफेक्ट को कंट्रोल करे।

  • भूख कम लगना और थकान होना कीमो के अन्‍य दुष्‍प्रभाव।

राज एक्सप्रेस। कीमोथैरेपी कैंसर का सबसे कारगर इलाज है। मरीज किस स्‍टेज पर है, इसके आधर पर डॉक्‍टर कीमोथैरेपी देते हैं। अमेरिकन कैंसर सोसायटी के अनुसार यह एक ऐसा उपचार है, जो कैंसर सेल्‍स को नष्‍ट कर किसी को लाइफ को बढ़ा सकता है। दरअसल, जब किसी के शरीर में कैंसर सेल्‍स तेजी से बढ़ते हैं, तो कीमोथैरेपी में इस्‍तेमाल होने वाली दवा उन्‍हें मारने का काम करती है। इन दवाओं से ट्यूमर सिकुड़ते हैं और कैंसर फैलने से रुक जाता है। खास बात यह है कि इस पूरी प्रोसेस में खराब सेल्‍स के साथ अच्‍छे सेल्‍स भी खत्‍म हो जाते हैं। अच्‍छे सेल्‍स को मारने के कारण ही कुछ लोगों में इसके ज्‍यादा साइड इफेक्‍ट देखने को मिलते हैं। ध्‍यान रखें, कीमोथैरेपी के साइड इफेक्‍ट इसे दिए जाने के अगले दिन सबसे ज्यादा खराब होते हैं। खासतौर से एडवांस स्‍टेज वाला मरीज अगले दिन से थकान, मतली, कमजोरी का अनुभव कर सकता है। इसके लक्षण को बेहतर होने में कम से कम तीन से चार दिन का समय लगता है। यहां कीमोथैरेपी के कुछ नॉर्मल इफेक्ट्स के बारे में बताया गया है, जिन्‍हें आप मैनेज कर सकते हैं।

उल्‍टी और मतली

आप अपने ईटिंग पैटर्न को बदलकर उल्‍टी और मतली जैसी समस्या को कम कर सकते हैं।

  • इसके लिए दिनभर में तीन बड़े मील लेने के बजाय पांच छोटे-छोटे मील लें।

  • खाने और पीने के दौरान पूरा समय लें, जल्‍दबाजी न करें।

  • भोजन करते समय नहीं, बल्कि भोजन करने से एक घंटा पहले या बाद में पानी पीएं।

  • एप्‍पल जूस और चाय का सेवन कर सकते हैं।

  • मतली से बचने के लिए तेज गंध वाले खाद्य पदाथों से बचें।

  • फ्राइड और फैट से भरपूर भोजन का सेवन न करें। इससे बेचैनी महसूस हो सकती है।

स्‍वाद बदलना

कुछ तरह की कीमोथैरपी में मुंह का स्‍वाद पूरी तरह से बदल सकता है।

  • अगर आप रेड मीट खाते हैं, तो आपको इसका हमेशा वाला स्‍वाद भी समझ नहीं आएगा। इसके बजाय आप लाइट टेस्‍ट वाली फिश या डेयरी प्रोडक्‍ट ले सकते हैं।

  • अगर आपके फेवरेट फूड का स्‍वाद भी आपको अच्‍छा नहीं लग रहा, तो बेहतर है कि उसे अवॉइड करें, लेकिन जबरदस्‍ती ना खाएं।

  • किसी फूड में आपको मेटल जैसा टेस्‍ट आए, तो प्‍लास्टिक के बर्तनों में खाना शुरू कर दें।

थकान होना

कीमोथैरेपी के बाद कई मरीजों को बहुत ज्‍यादा थकान का अनुभव होता है। इसे मैनेज करना जरूरी है।

  • नींद न भी आए, तो दिन के समय झपकी ले लें।

  • थोड़ी देर टहलने से आपको ऊर्जा मिलेगी।

  • अकेलापन महसूस होने पर दोस्तों और परिवार के सदस्यों से मदद मांगें।

  • अपनी एनर्जी उन्‍हीं कामों पर खर्च करें, जहां जरूरत हो।

  • कुछ मरीजों में कीमोथैरेपी के बाद एनीमिया के अलावा रेड ब्‍लड सेल्‍स की कमी हो जाती है, ऐसे में डॉक्‍टर को जरूर दिखाएं।

कीमो ब्रेन

इस बारे में बहुत कम लोग जानते हैं, लेकिन कैंसर में कीमो होने के बाद कुछ लोगों का दिमाग सुन्‍न हो जाता है। इसके लिए -

  • अपॉइंटमेंट, नाम, पते, फोन नंबर और नाम की लिस्‍ट को मैनेज करने और याद रखने में मदद के लिए एक डायरी बना लें।

  • अपने ब्रेन को एक्टिव रखना जरूरी है।.आप चाहें तो आसपास कोई क्‍लास जॉइन कर सकते हैं या फिर न्‍यूजपेपर या मैगजीन में आने वाली वर्ग पहले सॉल्‍व करके दिमाग को एक्टिव रखें।

  • अच्छा खाना और पर्याप्‍त नींद लेना कीमो ब्रेन को मैनेज करने का बढ़िया तरीका है।

  • एक समय में एक ही चीज़ पर फोकस करें। मल्‍टीटास्‍कर न बनें।

बालों का झड़ना

हेयर लॉस कीमोथैरेपी का एक अन्‍य साइड इफेक्ट है, जिसे मैनेज किया जाना चाहिए।

  • कीमोथेरेपी के बाद बाल झड़ना शुरू हो गए हैं, तो स्मूथ ब्रिसल वाले ब्रश का यूज करें। हेयर डाई का उपयोग तो भूलकर भी नहीं करना चाहिए।

  • बेहतर है कि बालों को छोटा कर लें। इससे ये घने दिखेंगे और इन्‍हें कोम्बिंग करने में भी दिक्‍कत नहीं आएगी।

  • कीमो वाले मरीजों को ठंड के मौसम में टोपी या स्कार्फ पहनने की कोशिश करनी चाहिए। इसके साथ ही अपने सिर को धूप से बचाने के लिए सनस्क्रीन का उपयोग कर सकते हैं।

  • कीमोथैरेपी के बाद स्‍कैल्‍प मे सूखापन आ जाता है, इसलिए लाइट मॉइस्चराइजिंग शैम्पू और कंडीशनर का इस्तेमाल करें।

साइड इफेक्ट को मैनेज करने के अन्‍य टिप्‍स

  • हर दिन 1 से 2 लीटर पानी पीकर खुद को हाइड्रेटेड रखने की कोशिश करें।

  • हर दिन एक ही समय पर सोएं और जागें।

  • फोन को हमेशा अपने पास रखें, ताकि आपको बार बार न उठना पड़े।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com