साइलेंट वॉक
साइलेंट वॉकRaj Express

शोर से दूर रहकर कर सकते हैं साइलेंट वॉक, 30 मिनट में कंट्रोल हो जाएंगे हार्मोन

इन दिनों साइलेंट वॉक एक बेहतरीन वर्कआउट ट्रेंड बन गया है। इसे करने से न केवल आपका दिल दुरुस्त रहता है, बल्कि लाइफ में तनाव के चलते असंतुलित हो रहे हार्मोन भी बहुत जल्‍दी कंट्रोल हो जाते हैं।

हाइलाइट्स :

  • स्‍ट्रेस को दूर करती है साइलेंट वॉक।

  • हमें खुद से जोड़ती है यह वॉक।

  • प्रकृति के बीच वॉक करके बीपी रहता है नॉर्मल।

  • दिल की सेहत के लिए अच्‍छा है चुपचाप चलना।

राज एक्सप्रेस। क्‍या आप भी उन लोगों में से हैं, जिन्‍हें हेडफोन लगाकर वॉक करने की आदत है। या फिर आप किसी वॉकिंग फ्रेंड की तलाश करते हैं। अगर हां, तो बता दें कि यह इस फिजिकल एक्सरसाइज के फायदे पाने का अच्‍छा तरीका नहीं है। यह न केवल आपका ध्‍यान भटकाता है, बल्कि आपकी एकाग्रता में कमी भी लाता है। अगर आप हेल्‍थ फ्रीक हैं, तो हम आपको वॉकिंग के वायरल ट्रेंड के बारे में बताने जा रहे हैं। वो है चुपचाप पैदल चलना, जिसे आजकल साइलेंट वॉक के नाम से जाना जाने लगा है।

साइलेंट वॉक हेल्‍थ के लिए तो वरदान है ही, साथ ही आपकी मेंटल और इमोशनल हेल्‍थ पर सकारात्मक प्रभाव भी डालती है। रोजाना 30 मिनट तक इस तरह से चलने से मॉडर्न लाइफ में बढ़ रहा मेंटल स्‍ट्रेस काफी हद तक दूर हो जाता है। इतना ही नहीं यह तनाव से छुटकारा पाने और अपनी भावनाओं को महसूस करने का नायाब तरीका भी है। तो चलिए जानते हैं इस लेटेस्‍ट वायरल वर्कआउट ट्रेंड के बारे में।

क्‍या है साइलेंट वॉक

जैसा कि नाम से पता चलता है कि इस तरह की वॉक शांत जगह पर और पूर्ण शांति के साथ की जाती है। इस दौरान आप आसपास के शोर से दूर अपनी सांसों पर ध्‍यान दे सकते हैं। आसपास सुनाई देने वाली पानी और पक्षियों की आवाज आपको ऊर्जा और पोषण दे सकती है। इसके अलावा यह आपके असंतुलित हो रहे हार्मोन को भी नियंत्रित कर सकती है। चुपचाप पैदल चलने से न केवल मास्तिष्‍क का विकास होता है बल्कि मन को दुनियाभर की उलझन से दूर शांत करने में मदद मिलती है।

साइलेंट वॉक के फायदे

कार्डियोवैस्कुलर हेल्‍थ के लिए अच्‍छी

शारीरिक स्‍वास्‍थ्‍य की बात करें, तो साइलेंट वॉक करने से मांसपेशियों में ब्‍लड सर्कुलेशन और ऑक्सीजन डिलीवरी बढ़ती है, जिससे हृदय स्‍वस्‍थ रहता है।

इमोशन्स हो जाते हैं कंट्रोल

अगर आप बहुत ज्‍यादा इमोशनल व्‍यक्ति हैं, तो साइलेंट वॉ‍क आपके लिए बहुत फायदेमंद है। रोजाना 10-15 मिनट की वॉक करके आप अपनी भावनाओं पर काबू पाना सीख सकते हैं।

तनाव दूर करे

साइलेंट वॉक तनाव को आपकी लाइफ से बाहर कर सकती है। यह फोकस में सुधार करने का शानदार तरीका है। अगर आप साइलेंट तरीके से पैदल नहीं चल सकते, तो शुरुआत 10-15 मिनट टहलने से करें।

डिजिटल डिटॉक्‍स

आज टेक्‍नोलॉजी हमारे जीवन पर हावी हो गई है। इसने न केवल हमारी सोचने की क्षमता को कम कर दिया है बल्कि एकाग्रता में भी कमी लाई है। इस वक्‍त डिजीटल दुनिया हमारे दिमाग पर ब्रेक लगाने का काम कर रही है। ऐसे में रोजाना साइलेंट वॉक करके आप डिजीटल दुनिया से दूर रह सकते हैं। इसके बाद देखिएगा कैसे आप मन के भीतर शांति का अनुभव कर पाएंगे।

स्‍लीप क्‍वालिटी में सुधार करे

कुछ देर की शांति मस्तिष्क के विकास को बढ़ावा देती है। तनाव भी कम होता है, जिससे हम बहुत हल्‍का महसूस करते हैं। जब ऐसा होता है, तो नींद की गुणवत्‍ता में सुधार हो जाता है।

साइलेंट वॉक करने के टिप्‍स

  • साइलेंट वॉक घर से बाहर किसी शांत जगह पर करनी चाहिए।

  • साइलेंट वॉक लंबी होना जरूरी नहीं है। मात्र 10-15 मिनट में ही सकारात्मकता का भाव पैदा हो सकता है।

  • घर से निकलने से पहले प्‍यास और भूख जैसी बुनियादी जरूरत को ध्‍यान रखें, ताकि आपका ध्‍यान न भटके।

  • वॉक करते समय अपनी भावनाओं और आसपास की खूबसूरती पर ध्‍यान देना चाहिए।

कैसे करें साइलेंट वॉक

साइलेंट वॉक करने के दौरान कोशिश करें कि नंगे पैर घास पर चलें। अपने पैरों के नीचे की फीलिंग को महसूस करें। ऊपर आसमानों को देखते हुए चलें। बादलों की ओर देखें, पक्षियों की चहचहाहट सुनें। अगर अपने आसपास कोई खूबसूरत फूल दिखे तो उसे छूएं और महसूस करें। यह माइंडफुलनेस का हिस्‍सा है, जो आपको एकाग्रता की ओर ले जाता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com