भारत दौरे पर पिचें खराब ही रही हैं : मार्क टेलर
भारत दौरे पर पिचें खराब ही रही हैं : मार्क टेलरSocial Media

भारत दौरे पर पिचें खराब ही रही हैं : मार्क टेलर

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2023 के अब तक के मुकाबले खराब पिचों पर खेले गए हैं।

इंदौर। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच जारी बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी 2023 के अब तक के मुकाबले खराब पिचों पर खेले गए हैं।उल्लेखनीय है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले गये तीसरे टेस्ट के लिये इस्तेमाल की गई इंदौर की पिच को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने 'खराब' करार दिया था। इससे पहले आईसीसी ने नागपुर और दिल्ली में खेले गये टेस्ट मैचों में इस्तेमाल हुई पिचों को भी 'औसत' की श्रेणी में रखा था। सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड ने टेलर के हवाले से कहा, "मैं (इंदौर पिच पर) आईसीसी के फैसले से सहमत हूं। मेरा मानना है कि इस श्रंखला में पिचें खराब रही हैं, और इंदौर की पिच तीनों में सबसे खराब थी। मुझे नहीं लगता कि पहले दिन किसी पिच पर गेंद इतनी टर्न होनी चाहिये।"

नागपुर और दिल्ली टेस्ट की तरह ही इंदौर टेस्ट भी तीन दिन में खत्म हो गया, हालांकि इस बार मेहमान टीम ने बाज़ी मारी। होल्कर स्टेडियम की पिच पर पहले ही सत्र से गेंद अत्यधिक टर्न हुई जिसका फायदा उठाते हुए ऑस्ट्रेलिया ने भारत को पहली पारी में 109 रन पर समेट दिया। कंगारुओं ने इसके बाद पहली पारी में 88 रन की बढ़त बनायी जो भारत की हार का मुख्य कारण बनी। टेलर ने कहा, "अगर मैच चौथे या पांचवें दिन तक चलता है तो आप समझ सकते हैं, लेकिन पहले दिन से गेंद टर्न नहीं होनी चाहिये। यह सिर्फ खराब तैयारी का नतीजा है। मुझे लगता है कि इंदौर की पिच बेहद खराब थी और उसे इसी तरह की रेटिंग मिलनी चाहिये थी।"

भारतीय दिग्गज सुनील गावस्कर ने हालांकि इंदौर की पिच पर आईसीसी की टिप्पणी से असहमति व्यक्त की। गावस्कर ने याद दिलाया कि ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के बीच दिसंबर 2022 में खेला गया गाबा टेस्ट सिर्फ दो दिन में खत्म हो गया था, फिर भी आईसीसी ने उस पिच को सिर्फ 'औसत से नीचे' की श्रेणी में रखा था। टेलर ने गाबा की पिच पर कहा, "गाबा में क्यूरेटर ने पिच पर थोड़ी ज्यादा घास छोड़ दी थी, लेकिन उससे किसी एक टीम को ज्यादा फायदा नहीं हुआ। वहां दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों को भी उतनी ही मदद मिलती जितनी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों को मिली, क्योंकि उनके पास भी अच्छे तेज गेंदबाज हैं।"

उन्होंंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि वहां गाबा पर ऐसा कोई छल-कपट था। इंदौर में पिच इतनी खराब बनी थी कि यह मैच थोड़ा लॉटरी जैसा होगा, जिससे भारत को बिल्कुल फायदा नहीं हुआ। बल्कि इससे ऑस्ट्रेलियाई स्पिनरों को ज्यादा मदद मिली।" भारत फिलहाल चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला में 2-1 से आगे चल रहा है। सीरीज का अंतिम मैच नौ मार्च से अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी स्टेडियम पर खेला जाएगा। भारत अगर यह मुकाबला जीत लेता है तो वह ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध जून में होने वाले विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में जगह बना लेगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com