विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में वॉर्नर को देखना चाहते हैं टेलर
विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में वॉर्नर को देखना चाहते हैं टेलरSocial Media

विश्व टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में वॉर्नर को देखना चाहते हैं टेलर

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर और कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को भारत के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल खेलने वाली कंगारू टीम का हिस्सा होना चाहिए।

मेलबर्न। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर और कप्तान मार्क टेलर का मानना है कि सलामी बल्लेबाज डेविड वॉर्नर को भारत के खिलाफ विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फाइनल खेलने वाली कंगारू टीम का हिस्सा होना चाहिए। भारत और ऑस्ट्रेलिया सात जून को डब्ल्यूटीसी फाइनल में आमने-सामने होंगे, जिसके फौरन बाद ऑस्ट्रेलिया को चार टेस्ट मैचों की एशेज सीरीज में इंग्लैंड से भिड़ना है। वॉर्नर भले ही लंबे समय से खराब फॉर्म से गुजर रहे हों लेकिन टेलर के अनुसार ऑस्ट्रेलिया टीम प्रबंधन डब्ल्यूटीसी फाइनल और एशेज के शुरुआती मैचों में उन्हीं के साथ जाना पसंद करेगा।

टेलर ने ऑस्ट्रेलियाई समाचार एजेंसी एएपी से कहा, अगर मैं चीजों को सही तरह पढ़ रहा हूं, तो ऐसा लगता है कि वे द ओवल में विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिये डेविड के साथ बने रहेंगे। और अगर ऑस्ट्रेलिया विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के बारे में ऐसा सोच रहा है, तो हां, उन्हें एशेज के लिये उसके साथ शुरुआत करनी होगी। वॉर्नर के ऊपर विशेषकर इंग्लैंड में रन बनाने का दबाव भी होगा। पिछले दिसंबर में मेलबर्न में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बनाया गया दोहरा शतक 32 पारियों में वॉर्नर का एकमात्र सैकड़ा है। साल 2019 में इंग्लैंड के एशेज दौरे पर वॉर्नर का औसत 9.50 का रहा था।

टेलर ने कहा, उस्मान ख्वाजा और वार्नर के साथ (डब्ल्यूटीसी फाइनल में) बल्लेबाजी की शुरुआत करना और फिर एक हफ्ते बाद (एशेज में) एजबेस्टन में पहले टेस्ट के लिये बदलाव करना बहुत मुश्किल होगा। ऑस्ट्रेलिया जिसे भी विश्व टेस्ट चैंपियनशिप के लिये सलामी बल्लेबाजी के लिये चुनता है, उस जोड़ी को पहले तीन टेस्ट खेलने चाहिए। उल्लेखनीय है कि ऑस्ट्रेलियाई चयनकर्ताओं ने पहले संकेत दिया था कि वे लॉर्ड्स में दूसरे एशेज टेस्ट के बाद टीम का पुनर्मूल्यांकन करने पर विचार करेंगे। टेलर ने कहा कि चयनकर्ताओं को वॉर्नर के स्थान पर मार्कस हैरिस के बजाय कैमरन बैनक्रॉफ्ट या मैट रेनशॉ को बतौर सलामी बल्लेबाज चुनना चाहिए।

बैनक्रॉफ्ट ने 2019 एशेज के बाद से कोई टेस्ट मैच नहीं खेला है, हालांकि वह ऑस्ट्रेलिया के घरेलू टेस्ट आयोजन शेफील्ड शील्ड में 59.06 की औसत से 945 रन बनाकर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी थे। टेलर ने कहा, मैं पुरानी सोच का आदमी हूं। मैं हमेशा दाएं और बाएं हाथ के बल्लेबाजों को साथ देखना पसंद करता हूं। इसलिए मैं शीर्ष क्रम में कैमरन बैनक्रॉफ्ट को एक और मौका देना पसंद करूंगा। मैं देख रहा हूं कि रेनशॉ न्यूजीलैंड में (ऑस्ट्रेलिया ए के लिए) रन बना रहे हैं, लेकिन बैनक्रॉफ्ट ने ऑस्ट्रेलियाई घरेलू क्रिकेट में रनों का अंबार लगा दिया है।

उन्होंने कहा, एक चीज जो मुझे बैनक्रॉफ्ट के बारे में पसंद है, जो मुझे रेनशॉ के बारे में भी पसंद है, वह उनकी फील्डिंग है। अगले एक या दो साल में हमें दो सलामी बल्लेबाजों को खोजने की जरूरत है। मार्कस हैरिस की फील्डिंग ने मुझे हमेशा चिंतित किया है। आने वाले समय में फील्डिंग महत्वपूर्ण होने जा रही है। मुझे लगता है कि यह मार्कस हैरिस जैसे किसी व्यक्ति के खिलाफ जाएगा, जिसकी फील्डिंग अच्छी नहीं है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com