ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन पर बुरा फंसा पाकिस्तान, भारत का नाम लेकर अमेरिका पर निकाली भड़ास

पाकिस्तान ने अमेरिका पर भारत और पाकिस्तान के बीच भेदभाव करने के आरोप भी लगाए हैं। पाकिस्तान का कहना है कि अमेरिका एक तरफ तो भारत को छूट दे रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है।
ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन पर बुरा फंसा पाकिस्तान
ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन पर बुरा फंसा पाकिस्तानSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। इन दिनों गंभीर आर्थिक और राजनीतिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान (Pakistan) पर नई मुसीबत मंडराने वाली है। पाकिस्तान की यह मुसीबत ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन प्रोजेक्ट (Iran-Pakistan Gas Pipeline Project) को लेकर है। अब इस प्रोजेक्ट को लेकर पाकिस्तान अमेरिका (America) पर बुरी तरह से भड़क गया है। यही नहीं पाकिस्तान ने अमेरिका पर भारत (India) और पाकिस्तान के बीच भेदभाव करने के आरोप भी लगाए हैं। पाकिस्तान का कहना है कि अमेरिका एक तरफ तो भारत को छूट दे रहा है, वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई कर रहा है। तो चलिए जानते हैं कि ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन प्रोजेक्ट क्या है, जिसके चलते पाकिस्तान मुश्किल में फंसता हुआ दिखाई दे रहा है।

ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन प्रोजेक्ट

दरअसल ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन को पीस पाइपलाइन भी कहा जाता है। किसी समय भारत भी इस प्रोजेक्ट का हिस्सा हुआ करता थे, लेकिन बाद में विवाद के चलते भारत इस प्रोजेक्ट से हट गया। ईरान ने अपने हिस्से की पाइपलाइन का निर्माण 2011 में ही पूरा कर लिया है जबकि पाकिस्तान के हिस्से का काम अभी बाकी है।

18 बिलियन डॉलर का जुर्माना

दरअसल इस प्रोजेक्ट के तहत हुए करार के अनुसार पाकिस्तान को अपने हिस्से का काम मार्च 2024 तक करना है। अगर वह काम पूरा नहीं कर पाता है तो ईरान उसे कोर्ट में घसीट सकता है। कोर्ट में पाकिस्तान पर करार के उल्लंघन का आरोप साबित होने पर उसे 18 बिलियन डॉलर का जुर्माना देना पड़ सकता है।

अमेरिकी प्रतिबंधों से आई दिक्कत

दरअसल अमेरिका ने ईरान पर कई प्रतिबंध लगाए हैं। इन प्रतिबंधों के तहत ईरान के साथ व्यापार करने वाले देशों को भी इन प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा। इसके चलते पाकिस्तान दोनों तरफ से फंस गया है। अगर वह पाइपलाइन का काम आगे बढ़ाता है तो उसे अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा। वहीं पाइपलाइन का काम नहीं करने पर जुर्माना देना पड़ेगा।

अमेरिका पर निकाली भड़ास

रूस पर लगे प्रतिबंधों के बावजूद भारत उससे तेल खरीद रहा है। अमेरिका ने इस मामले में भारत के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की है। ऐसे में पाकिस्तान का कहना है कि अमेरिका या तो ईरान-पाकिस्तान गैस पाइपलाइन को आगे बढ़ाने की मंजूरी दे या फिर 18 अरब डॉलर का जुर्माना वह भरे।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.com